रंगदारी मांगने वाले गिरोह के तीन आरोपियों को अपराध जांच शाखा पुलिस ने लिया गिरफ्तार

रंगदारी

पलवल सदर थाना इलाका स्थित कंपनी में 12 दिन पूर्व कंपनी घुसकर अधाधुंध फायरिंग करने व पांच लाख रुपये की रंगदारी मांगने वाले गिरोह के तीन आरोपियों को अपराध जांच शाखा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। जबकि गिरोह के दो आरोपी पुलिस को चकमा देकर भागने में कामयाब हो गए। पुलिस ने गिरफ्तार तीनों आरोपियों के कब्जे से भारी मात्रा में अवैध हथियार व एक स्विफ्ट कार को बरामद कर लिया है।


आरोपियों को बुधवार को अदालत में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया


गहन पूछताछ के लिए पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों को बुधवार को अदालत में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया है। बताया गया कि गिरोह का मुख्य आरोपी गौरव तेवतिया पहले भी आधा दर्जन संगीन वारदातों में वांछित रहा है। पलवल पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार ने पै्रसवार्ता के दौरान बताया कि सीआईए पलवल इंचार्ज सुरेश भड़ाना की टीम कैंप थाना क्षेत्र के अंतर्गत गश्त पर मौजूद थी। उसी समय मुखबिर खास से सूचना प्राप्त हुई कि पांच युवकों का एक गिरोह अवैध हथियार सहित नयागांव के समीप मौजूद है जो किसी संगीन वारदात को अंजाम देने की फिराक में है।


सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर दबिश दी और तीन युवको को काबू कर लिया जबकि दो युवक पुलिस को चकमा देकर भागने में कामयाब हो गए। पूछताछ में आरोपियोंं ने अपना गांव जनोली निवासी गौरव तेवतिया, गांव नंंगला भीखू निवासी यमन व गांव पृथला निवासी संजू बताया। भागने वाले दोनों युवको के नाम गांव जनोली निवासी धोलू व धरमू बताया।


आरोपियों के कब्जे से पांच देशी पिस्टल, एक देशी कट्टा, एक देशी दुनाली बंदुक, 21 जिंदा रौंद, 9 खाली खोल, छह मैगजीन व एक स्विफ्ट वीडीआई


पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से पांच देशी पिस्टल, एक देशी कट्टा, एक देशी दुनाली बंदुक, 21 जिंदा रौंद, 9 खाली खोल, छह मैगजीन व एक स्विफ्ट वीडीआई कार को बरामद किया है। गहन पूछताछ में तीनों युवकों ने बताया कि उनके गिरोह ने गत 16 नवम्बर को गांव बघोला से जनोली जाने वाले मार्ग पर स्थित ए-1 टयुब टैक कंपनी में घुसकर अधाधुंध फायरिंग की और पांच लाख रुपये की रंगदारी मांगी तथा नही देने पर कंपनी मालिक को जान से खत्म करने की धमकी दी थी। जिस संबंध में कंपनी के स्कियोरिटी गार्ड गांव कलसाड़ा निवासी कंवरपाल की शिकायत पर सदर थाने में गौरव तेवतिया व उसके अन्य साथियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था।


पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस गिरोह का मुख्य आरोपी गौरव तेवतिया के खिलाफ अलग-अलग थानों में हत्या, लूट व रंगदारी जैसी संगीन वारदातों के सात मामले दर्ज है। गहन पूछताछ के लिए तीनों आरोपियों को अदालत में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया हुआ है और उनके फरार साथियों की गिरफ्तारी के लिए उनके ठिकानों पर दबिश दी जा रही है।


 

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *