Sat. Aug 24th, 2019

एटीएम उखाड़ने की दोनों ट्रिक जानता है चोर गिरोह, स्कोर्पिया पर लगाई थी बाइक की नंबर प्लेट

एक ही रात में चार एटीएम बूथ पर धावा बोलने वाला चोर गिरोह एटीएम उखाड़ने में माहिर है। गिरोह के सदस्य मशीन उखाड़ने की दोनों ट्रिक जानते हैं। वे गैस कटर से कैश बॉक्स को काटने के अलावा रस्सियों से एटीएम को उखाड़ने में भी निपुण है। पुलिस की अब तक की जांच में यह तथ्य सामने आया है।

इतना ही नहीं पुलिस सूत्रों की मानें तो आरोपियों की स्कॉर्पियो पर जो नंबर प्लेट लगी थी वह किसी बाइक का नंबर है। इससे अधिक जानकारी पुलिस के हाथ फिलहाल नहीं लग पाई है। जो इनपुट पुलिस को मिला है उसके आधार पर मामले की जांच शुरू कर दी गई है। वहीं, सिटी पुलिस ने तीनों बैंकों के अधिकारियों की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।


सोमवार रात स्कॉर्पियो सवार चोर गिरोह ने यूको, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, पीएनबी और कैनरा बैंक के एटीएम पर धावा बोला था। चोर गिरोह यूनाइटेड बैंक के एटीएम को गैस कटर से काटकर कैश ट्रे में रखे 8.53 लाख का कैश निकालकर ले गया था। वहीं, म्यूनिसिपल मार्केट स्थित यूको बैंक के एटीएम को भी गिरोह ने गैस कटर से काटकर 5.27 लाख की नकदी पर हाथ साफ कर लिया था।

इन दोनों एटीएम में एक ही तरीका अपनाया गया था। दोनों जगहों पर आरोपियों ने सीसीटीवी के कनेक्शन काटे थे। वहीं, रोज गार्डन के सामने स्थित पीएनबी के एटीएम को चोर गिरोह ने दूसरी ट्रिक यानी रस्सियों से उखाड़ने का प्रयास किया था लेकिन वे सफल नहीं हो पाए थे। मंगलवार सुबह वारदात का पता चलते ही सीआईए, स्पेशल स्टाफ, सीन ऑफ क्राइम और सिटी पुलिस सहित एसपी स्मिति चौधरी खुद घटनास्थल पर पहुंची थी। पुलिस ने गिरोह के बारे में सुराग लगाने के लिए फुटेज कब्जे में ली थी। वहीं, बैंक अधिकारियों की शिकायत पर मंगलवार देर शाम ही अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया था।


सूत्रों की मानें तो चोर गिरोह में आठ से दस लोग शामिल थे। वो सफेद रंग की गाड़ी में सवार होकर आए थे। इसी गाड़ी पर लगी नंबर प्लेट एक फुटेज में नजर आई है। जब इसकी जांच की गई तो यह बाइक का नंबर मिला। वहीं, पुलिस अपने स्तर पर भी गिरोह का पता लगाने का प्रयास कर रही है। सूत्रों की मानें तो एसपी ने सोमवार शाम ही पुलिस को अलर्ट भी जारी किया गया था लेकिन इसके बाद भी पेट्रोलिंग टीमें सक्रिय नहीं हुई। उनकी निष्क्रियता के चलते ही चोर गिरोह अपने मंसूबों में सफल हो गया।

तीन टीमों का किया गया गठन
घटनास्थलों का जायजा लेने के बाद ही एसपी स्मिति चौधरी ने पुलिस अधिकारियों की बैठक भी ली। इन वारदातों का पटाक्षेप और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एसपी ने तीन टीमें गठित की हैं। सिटी पुलिस टीम के अलावा स्पेशल स्टाफ और सीआईए को भी मामले की जांच में लगाया गया है। वहीं, अन्य जिलों की पुलिस से भी संपर्क साधा जा रहा है। सूत्रों की मानें तो चोर गिरोह में सदस्यों की संख्या आठ से दस के बीच रही है। आरोपियों की स्कॉर्पियो तो फुटेज में कैद हो गई लेकिन आगे की गतिविधियां कैद होती इससे पहले ही उन्होंने सीसीटीवी के कनेक्शन काट दिए। उनके पास गैस कटर भी था। अंदेशा जताया जा रहा है कि वारदात के समय आरोपियों के पास एक और गाड़ी या बाइक भी थी।

इस संबंध में पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। हमारी तीन टीमें वारदात का पटाक्षेप करने में जुटी हैं। जल्द से जल्द वारदात को पुलिस ट्रेस आउट कर देगी। इस घटना को सुलझाना पुलिस की प्राथमिकता है। – स्मिति चौधरी, एसपी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *