Sat. Aug 24th, 2019

कांग्रेस महासचिव बनने के बाद प्रियंका का पहला भाषण, आपकी जागरूकता से बड़ी कोई देशभक्ति नहीं

कांग्रेस महासचिव बनने के बाद पहली बार प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को गांधीनगर में एक जन संपर्क रैली को संबोधित करते हुए कहा कि आपकी जागरूकता से बड़ी देशभक्ति कोई नहीं है। कांग्रेस की रैली में उन्होंने कहा कि आज के दौर में रोजगार सबसे बड़ा मुद्दा है। उन्होंने किसानों की कर्ज की समस्या को लेकर भी सरकार पर निशाना साधा। देश में फैली भीड़ और सांप्रदायिक हिंसा को लेकर भी प्रियंका ने अपनी बात रखी और जनता से कहा कि ये सारी चीजें तकलीफ देती हैं।

प्रियंका गांधी के भाषण के मुख्य अंश

– मुझे मालूम था कि आज बैठक है, लेकिन मन में सोचा था कि भाषण नहीं देना पड़े। मैं भाषण नहीं दे रही, बल्कि अपने दिल की बात कर रही हूं। पहली बार गुजरात आई हूं और पहली बार उस साबरमती आश्रम गई जहां से महात्मा गांधी ने आजादी के लिए संघर्ष की शुरुआत की थी। वहां बैठकर लगा कि आंखों से आंसू आ जाएंगे। उन लोगों की याद आई जिन्होंने देश के लिए अपना सबकुछ न्यौछावर कर दिया। 

– यह देश प्रेम, सद्भाव और आपसी प्यार के आधार पर बना है। आज जो कुछ देश में हो रहा है उससे दुख होता है।

– आपका वोट एक हथियार है। लेकिन एक ऐसा हथियार है जिससे किसी को चोट नहीं पहुचानी है, किसी का नुकसान नहीं करना है। यह हथियार आपको ताकत देता है। फिजूल के मुद्दे नहीं उठने चाहिए। मुद्दे ये उठने चाहिए कि आप कैसे आगे बढ़ेंगे, रोजगार कैसे मिलेगा, महिलाओं को सुरक्षा कैसे मिलेगा। आपकी जागरूकता ही इस मुद्दों को आगे ला सकती है। आप सोच समझकर निर्णय लें।

– आपके सामने जो बड़ी बड़ी बातें करते हैं उनसे पूछिए कि दो करोड़ रोजगार का क्या हुआ? 15 लाख रुपये का क्या हुआ? महिलाओं की सुरक्षा का क्या हुआ है? 

– आपकी जागरुकता ही आपको बनाएगी। आपकी देशभक्ति इसी में प्रकट होनी चाहिए। आवाज यहीं से उठने चाहिए। आप उन्हें बताइए कि इस देश की फितरत क्या है? इस देश की फितरत है कि नफरत की हवाओं को प्रेम एवं करुणा में बदलेगी।

– आने वाले दिनों में सही निर्णय लीजिए। सही सवाल करिए। यह देश आपने बनाया है। यह (चुनाव) आजादी की लड़ाई से कम नहीं है। संस्थाएं नष्ट की जा रही है। जहां देखिए वहां नफरत फैलाई जा रही है। हम मिलकर काम करें और एकजुट होकर आगे बढ़ें।

गौरतलब है कि कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के मद्देनजर प्रियंका गांधी वाड्रा को पूर्वी उत्तर प्रदेश का महासचिव नियुक्त किया है।

इससे पहले संप्रग प्रमुख सोनिया गांधी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर खुद को पीड़ित के तौर पर पेश करने एवं राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर राजनीति करने का आरोप लगाया और दावा किया कि मोदी की ‘गलत नीतियों के कारण देश के लोग पीड़ित हैं। कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार की नीतियों पर निशाना साधा और देश में कृषि संकट, औद्योगिक विकास के बाधित होने तथा बेरोजगारी के मुद्दे का उल्लेख किया।

सूत्रों के मुताबिक सोनिया ने लोकसभा चुनाव से पहले हो रही सीडब्ल्यूसी की महत्वपूर्ण बैठक में आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री मोदी राष्ट्रीय हितों से जुड़े मुद्दों का राजनीतिकरण कर रहे हैं। उन्होंने पूर्व की संप्रग सरकार की उपलब्धियों का उल्लेख किया और कांग्रेसजन से आह्वान किया कि वे देश के लिए नया नजरिया प्रदान करने के लिए आगे बढ़ें। सीडब्ल्यूसी की बैठक की शुरुआत में पुलवामा आतंकी हमले के शहीदों की याद में कुछ पल मौन रखा गया। 

इससे पहले पार्टी ने यहां साबरमती आश्रम में महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी। महात्मा गांधी ने 1930 में आज ही के दिन साबरमती आश्रम से ऐतिहासिक दांडी यात्रा शुरू की थी। गौतरतलब है कि गुजरात में कांग्रेस कार्य समिति की बैठक करीब 58 वर्षो के बाद हुई है। इससे पहले 1961 में गुजरात में सीडब्ल्यूसी की बैठक हुई थी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *