पानीपत के लाडले जवान कर्मवीर को अंतिम विदाई

Spread the love

जम्मू-कश्मीर के राजौरी के पूंछ के मेंढर में वीरवार को संदिग्ध हालातों में गोली लगने से जिला के गांव बडौली निवासी बीएसफ के एएसआई कर्मबीर पुत्र धर्म सिंह की मौत हो गई थी। कर्मवीर का शनिवार को आज गांव बडौली में गमगीन माहौल में संस्कार किया गया।

कर्मवीर के अंतिम संस्कार में सांसद अश्विनी चोपड़ा की धर्मपत्नी श्रीमती किरण शर्मा चोपड़ा, परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, सांसद दुष्यंत चौटाला, विधायक महीपाल ढांडा, पूर्व स्पीकर कुलदीप शर्मा,पूर्व मंत्री बिजेंद्र बिल्लू, कांग्रेस नेता महेंद्र कादियान, कांग्रेस के युवा प्रदेश अध्यक्ष सचिन कुंडू, कांग्रेस के युवा जिला अध्यक्ष जितेंद्र कुंडू, पानीपत ब्लाक समिति के वाईस चेयरमैन राजेश बडौली, कांग्रेस नेता संजीव मलिक, डा. कर्ण सिंह कादियान, खुशी राम जागलान, रविंद्र मिटान, सुरेंद्र संधू, इनेलो नेता कुलदीप राठी, सांसद के ओएसडी विरेंद्र गौतम, भाजपा की प्रदेश सचिव सुप्रिया रत्न, भाजपा नेत्री अनिता चावला, डीएसपी सतीश वत्स, नायब तहसीलदार जय सिंह सहित हजारों लोगों ने गांव बडौली पहुंचकर कर्मबीर को श्रद्धांजलि दी।

वहीं बीएसएफ की तरफ से कमाडेंट अनुप सिंह दाह संस्कार में शामिल हुए और बीएसएफ जवानों की और से कर्मवीर को सलामी दी गई। गौरतलब है कि वीरवार को जम्मू-कश्मीर में राजौरी के पूंछ के मेंढर में संदिग्ध हालत में गोली लगने से मौत हो गई थी। कर्मबीर बीएसएफ की 6 बटालियन में तैनात था। परिवार में अब उनकी पत्नी राजेश, बेटी ज्योति और लड़का धीरज है। वहीं बीएसएफ के जवान कर्मबीर का पार्थिव शरीर गांव बडौली लेकर पहुंचे और गांव में भारी संख्या में लोग पहले से ही उनके शव के आने का इंतजार कर रहे थे।

कर्मबीर के घर से लेकर गांव के श्मशान तक हजारों लोग अंतिम यात्रा में शामिल हुए और बहुत ही गमगीन माहौल में संस्कार किया गया। वहीं इस मौके पर बीएसएफ के कमाडेंट अनुप सिंह ने पत्रकारों के सवाल पर कहा कि कर्मबीर की मौत की जांच चल रही है और वे जांच के उपरांत ही कुछ कह सकते है कि उनकी मौत कैसी हुई है।

शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा : किरण शर्मा चोपड़ा 

शहीद के अंतिम संस्कार में पहुंची करनाल के सांसद श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा की धर्मपत्नी व वरिष्ठ नागरिक केसरी क्लब की चेयरपर्सन श्रीमती किरण शर्मा चोपड़ा ने कहा कि शहीदों का बलिदान सरकार व्यर्थ नहीं जाने देंगी। उनके बलिदान का पाकिस्तान से बदला लिया जाएगा।

उन्होंने परिजनों को ढांढस बंधवाते हुए कहा कि कर्मवीर अकेले बडौली का नहीं बल्कि पूरे देश का बेटा था। श्रीमती किरण शर्मा चोपड़ा ने कहा कि वह भी शहीद परिवार की सदस्य हैं। उन्होंने कहा कि पूरे देश के शहीदों के परिवार अपने को अकेले महसूस न करें, पूरे देश को आप पर गर्व है ऐसे होनहार सपूतों को हम सब सलाम कर रहे हैं।


Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *