वसुंधरा-सुषमा नहीं हटीं तो नहीं चलने देंगे मॉनसून सत्र : कांग्रेस

नई दिल्ली। ललित मोदी विवाद में एक तरफ जहां भाजपा वसुंधरा के बचाव में उतरी है। वहीं कांग्रेस ने भाजपा को घेरते हुए मांग की है कि सुषमा व वसुंधरा राजे को उनको पद से हटाया जाए। कांग्रेस प्रवक्ता जयराम रमेश ने धमकी भरे अंदाज मे कहा कि मॉनसून सत्र चलाना है तो इनको इस्तीफा देना होगा। प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें सारी जानकारी है और वे भी शामिल हैं। रमेश ने कहा कि विदेश मंत्री व राजस्थान के सीएम के ललित मोदी से गहरे संबंध थे।

उन्होंने योग के प्रचार को लेकर चुटकी लेते हुए कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि पीएम जब ललितासन से उतरेंगे तो कड़ी कार्रवाई देखने को मिलेगी। रमेश ने कहा कि पीएम आंख,कान, नाक व मुंह बंद किए ललितासन में बैंठे हैं। उन्होंने योग दिवस को लेकर सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि योग दिवस ठीक है सब भाग लें, लेकिन मोदी ने योग का अविष्कार नहीं किया। उन्होंने मोदी अडानी के रिश्तों को लेकर भी हमला किया। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि मॉनसून सत्र को अगर बचाना है तो सुषमा और वसुधंरा को इस्तीफा देना होगा।

इससे पहले राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के बचाव में भाजपा पहली बार खुलकर सामने आई है। पार्टी प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि वसुंधरा ने ललित मोदी से अपने पारिवारिक संबंधों को कभी नहीं नकारा है। त्रिवेदी ने कहा कि मीडिया में जो दस्तावेज सामने आए हैं वह प्रमाणिक नहीं हैं। उन्होंने साफ किया कि उन्हें हटाने का सवाल ही नहीं उठाता।

वसुंधरा पर ललित मोदी को भारत से बाहर जाने में गुपचुप तरीके से मदद करने का आरोप है। हालांकि वसुंधरा ने भी यह स्वीकार किया है कि वह ललित मोदी को जानती हैं। लेकिन उन्होंने किसी भी तरह के विवाद की जानकारी न होने की बात कही थी।

दुष्यंत का किया बचाव

वसुंधरा राजे के बेटे दुष्यंत सिंह की कंपनी में ललित मोदी द्वारा पैसा लगाने के विषय में सफाई देते हुए त्रिवेदी ने कहा कि दुष्यंत ने अपने आईटी रिटर्न व चुनाव के दौरान दिए गए हलफनामे में सभी जानकारियां दी हैं। ये सभी चीजें जनता के बीच हैं।

राजस्थान भाजपा ने भी वसुंधरा-दुष्यंत का किया बचाव

इस बीच राजस्थान भाजपा ने भी वसुंधरा-ललित विवाद पर प्रसे कांफ्रेंस कर सफाई दी। राजस्थान भाजपा अधयक्ष अशोक परनामी ने कहा कि दुष्यंत को बेवजह बदनाम करने की साजिश की जा रही है। दुष्यंत और मोदी के बीच में कारोबारी रिश्ते हैं। नियांत हेरिटेज होटल और आनंद हेरिटेज होटल के बीच लेनदेन को लेकर भ्रांतियां फैलाई जा रही हैं। परनामी ने जानकारी देते हुए कहा कि दोनों के बीच 3 करोड़ 79 लाख 99 हजार का लेनदेन था। उन्होंने बताया 1 अप्रैल 2008 को नियांत हेरिटेज के 395 शेयर 96,200 रुपए में बेटे गए थे। इसमे 96,100 रुपए प्रीमियम शामिल था। सारे लेनदेन की जानकारी आईटी विभाग को दी गई है।

कांग्रेस पर उठाए सवाल

भाजपा नेता ने सवाल पूछते हुए कहा कि यह सभी घटनाएं किसके शासन काल में हुई थीं। त्रिवेदी का इशारा साफ था कि कांग्रेस इसके लिए जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पहले ही कहा था कि ललित मोदी के खिलाफ मामले हैं और उन्हें नोटिस भेजा जा चुका है। उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि भ्रष्टाचार का ये मामला किस सरकार के कार्यकाल में हुआ था। इसमें फंसे नेताओं की जांच अबतक चल रही है।

अबतक वसुंधरा-ललित विवाद में भाजपा शांत थी लेकिन अब उसने तय कर लिया है कि अपने दोनों नेताओं का बचाव करेगी। भाजपा के आज के वार से साफ हो गया है कि वह इस विवाद में कांग्रेस के नेताओं को भी लपेटेगी।

Leave a Comment