हिन्दी के प्रख्यात कहानीकार रवीन्द्र कालिया का निधन

नई दिल्ली. हिन्दी के प्रख्यात कहानीकार एवं कई साहित्यिक पत्रिकाओं के संपादक रह चुके रवीन्द्र कालिया का निधन हो गया. वह 78 वर्ष के थे.

Kla-sanskriti-Hindi-eminent-storyteller-died-Ravindra-Kalia-news-in-hindi-124129कालिया को साठोत्तरी हिन्दी कहानी में एक सशक्त कहानीकार के रूप में जाना जाता है. उनकी ‘‘नौ साल छोटी पत्नी’’ कहानी काफी चर्चित हुई. कुछ साल पहले आयी उनकी आत्मकथा रूपी रचना ‘‘गालिब छूटी शराब’’ भी काफी सराही गयी. कालिया धर्मयुग सहित कई पत्र-पत्रिकाओं से जुड़े रहे. वह वागर्थ और नया ज्ञानोदय पत्रिका के संपादक भी रह चुके थे. वह भारतीय ज्ञानपीठ के निदेशक भी थे.

साहित्य अकादमी के अध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद तिवारी ने कहा कि कालिया के निधन से समकालीन हिन्दी साहित्य को गहरा आघात लगा है. तिवारी ने कहा कि कालिया ने अपने समय की विसंगतियों और विडंबनाओं को बेबाक अंदाज में व्यक्त किया. एक संपादक के रूप में वागर्थ और नया ज्ञानोदय द्वारा उन्होंने नयी प्रतिभाओं को रेखांकित करने का प्रशंसनीय प्रयास किया था.

Leave a Comment