एसडीएम ने बताया कि भारतीय दिव्यांग टीम रविवार दो अक्तूबर को सिंगापुर के लिए रवाना हो रही है। टीम सिंगापुर व मलेशिया की टीमों के साथ 5 मैच खेलेगी

रोहतक, 30 सितंबर: (आदेश त्यागी )   रोहतक के एसडीएम डा. मुनीश नागपाल ने कहा कि भारतीय दिव्यांग क्रिकेट टीम के सदस्यों में प्रति01भा की कोई कमी नहीं है और ये खिलाड़ी दूसरे लोगों को भी  प्रोत्साहित करते हैं। उन्होंने टीम को आगामी सीरिज के लिए शुभकामनाएं दी। क्रिकेट टीम के सदस्य सिंगापुर व मलेशिया सीरिज के लिए रवाना होने से पहले एसडीएम एवं टीम के मानद सलाहकार डा. नागपाल से मिलने पहुंचे थे।
एसडीएम ने कहा कि टीम के सदस्यों में दिव्यांग होने के बावजूद गजब की प्रतिभा है। ग्रामीण आंचल से संबंध रखने वाले ये खिलाड़ी समाज के लोगों के लिए एक मिसाल है और लोगों को भी सामान्य जीवन जीने की प्रेरणा दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिव्यांग होने के बावजूद अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक पहुंचना अपने आप में बड़ी बात है। ये लोग कड़ी मेहनत करते हैं, जिसके फलस्वरूप यह टीम विश्व की श्रेष्ठ टीम है। एसडीएम ने टीम के सदस्यों को आगामी सीरिज के लिए शुभकामनाएं देते हुए कहा कि देशवासियों की उम्मीद के अनुसार सभी खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन करेंगे और सीरिज जीत कर आएंगे।
एसडीएम ने बताया कि भारतीय दिव्यांग टीम रविवार दो अक्तूबर को सिंगापुर के लिए रवाना हो रही है। टीम सिंगापुर व मलेशिया की टीमों के साथ 5 मैच खेलेगी। उन्होंने बताया कि भारतीय टीम के सिंगापुर टीम के साथ 2 और मलेशिया की टीम के साथ 3 मैच होंगे। पहला मैच 4 अक्तूबर को होगा और आखिरी मैच 9 अक्तूबर को खेला जाएगा।
हरियाणा के फतेहाबाद के रहने वाले टीम के कप्तान रविन्द्र कम्बोज ने कहा कि एसडीएम एवं टीम के मानद सलाहकार डा. मुनीश नागपाल से सभी सदस्यों को हमेशा प्रोत्साहन मिलता है। डा. नागपाल हमेशा टीम की बेहतरी के लिए अच्छे सुझाव देते हैं और सभी सदस्यों की जरूरतों का भी ख्याल रखते हैं। उन्होंने कहा कि दिव्यांग टीम में खिलाडिय़ों को लेकर आना बहुत मुश्किल है। बहुत कम दिव्यांग लोग ही क्रिकेट को खेलने की सोच रखते हैं और उनमें से भी कुछ ही लोग उच्च स्तर तक पहुंच पाते हैं।
उन्होंने बताया कि भारतीय दिव्यांग क्रिकेट टीम ने फरवरी 2015 में 5 देशों की प्रतियोगिता में एशिया कप जीता था और यह टीम बांग्लादेश, श्रीलंका, थाईलैंड, पाकिस्तान व अफगानिस्तान में भी क्रिकेट मैचों की सीरिज जीत चुकी है। उन्होंने बताया कि अगले साल दिव्यांग क्रिकेट वल्र्ड कप है और टीम से उम्मीद है कि यह खिताब भारत को ही मिलेगा।
कप्तान ने बताया कि उनके अलावा टीम में उपकप्तान उत्तरप्रदेश के कैलाश  प्रसाद, हरियाणा के जींद से प्रदीप चहल, पंजाब के टिक्का सिंह, सुखविंद्र सिंह, बलराज सिंह व मनदीप सिंह, चंडीगढ़ के अभिषेक, झारखंड से मुकेश कंचन, कोलकाता से सुब्रो जोर्डन, राजस्थान से दुर्गेश शर्मा, महाराष्ट्र से मंजूनाथ मराठे, कर्नाटक से प्रकाश होनोवार्ड व महेश अगले, मध्यप्रदेश से सूरजभान केले और पंजाब से टीम के सलाहकार अमनदीप सिंह शामिल हैं।

Leave a Comment