उत्तरप्रदेश के दो कुख्यात बदमाशों को सोनीपत पुलिस ने किया गिरफ्तार : हरदीप दून दोनों बदमाशों पर था 50-50 हजार का ईनाम

 सोनीपत ( आदेश त्यागी घसौली )1 Snp-4  एसआईटी द्वारा पकड़े गए कुख्यात अपराधी।
उत्तरप्रदेश में एक पखवाड़े के भीतर पांच हत्याओं को अंजाम देने वाले दो बदमाशों को सोनीपत पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने गिरफ्तार बदमाशों के कब्जे से अवैध हथियार भी बरामद किए हैं।  जिला पुलिस अधीक्षक हरदीप सिंह दून ने आज अपने कार्यालय में आयोजित एक सवांददाता सम्मेलन में उक्त बदमाशों की गिरफ्तारी की जानकारी दी। दून ने बताया कि गिरफ्तार किए गए बदमाश अमित उर्फ मोनू व नितिन राठी क्रमश: गांव रोहटा जिला मेरठ व गांव टीकरी जिला बागपत के रहने वाले है। दोनों बदमाशों पर उत्तरप्रदेश पुलिस ने 50-50 हजार रूपये का ईनाम घोषित कर रखा था। उन्होंने बताया कि सोनीपत पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि सोनीपत के सेक्टर-7 स्थित देवीलाल पार्क के पीछे एक गैर आबाद कोठी में अवैध हथियारों के साथ कुछ बदमाश अपराधिक घटनाओं को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं। इस सूचना के आधार पर डीएसपी राहुल देव व एसआईटी शाखा की प्रभारी सन्दीप के नेतृत्व में पुलिस की टीम ने उक्त कोठी को चारों ओर से घेर लिया। बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने भी आत्मरक्षा के लिए जवाबी फायरिंग की और दोनों बदमाशों को दबोच लिया।
एसपी ने बताया कि गिरफ्तार बदमाश अमित उर्फ मोनू के गब्जे से नौ एमएम तथा 315 बोर की देशी पिस्तौल, 12 जिन्दा कारतूस व 3 खाली खोल बरामद किए हैं। इसी प्रकार नितिन के कब्जे से नौ एमएम व 315 बोर की अवैध पिस्तौल, 10 जिन्दा कारतूस व दो खाली खोल बरामद किए हैं। उन्होंने बताया कि दोनों बदमाशों के विरूद्ध भारतीय दंड संहिता तथा शस्त्र अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत सोनीपत पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। पूछताछ में दोनों बदमाशों ने बताया है कि उन्होंने 8 सितम्बर 2016 को जिला मेरठ के गांव रोहटा में आपसी रंजिश के चलते शीशपाल व उसकी पत्नी सन्तोष की खेतों में गोली मारकर हत्या की थी।  दोनों बदमाशों द्वारा यूपी में की गई अन्य हत्याओं की जानकारी देते हुए हरदीप सिंह दून ने बताया कि पहली घटना के चार दिन बाद 12 सितम्बर को ही दोनों बदमाशों ने जिला बागपत के गांव टीकरी के बाजार में सरेआम विवेक की गोली मारकर हत्या कर दी थी और इसके दस दिन बाद गांव रोहटा में 22 सितम्बर को सट्टेबाज सुरेश को उसी के घर में ही गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया था। इस घटना के दो दिन बाद गांव टीकरी में लाल बहादुर की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इन सभी घटनाओं को लेकर पुलिस ने दोनों बदमाशों की जानकारी देने पर 50-50 हजार रूपये का ईनाम घोषित किया था। उन्होंने बताया कि उपरोक्त घटनाओं के अलावा दोनों बदमाशों के विरूद्ध हत्या, हत्या के प्रयास व लूट जैसी अपराधिक घटनाओं के एक दर्जन से भी अधिक मुकदमें दर्ज हैं। बदमाशों को पकडऩे के लिए उत्तरप्रदेश पुलिस की एक कम्पनी भी तैनात की गई थी। उन्होंने बताया कि दोनों आरोपियों को न्यायालय में पेश कर पुलिस रिमांड मांगा जाएगा।
————

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *