प्रदेश की पंचायतें भी अब डिजिटल हुई: धनखड़ -ग्राम सचिवालय दिवस पर दादरीतोए में ग्राम सभा की बैठक में शामिल हुए कैबिनेट मंत्री

02  Dadri Toi. 01
झज्जर,  (आदेश त्यागी )   के कृषि तथाा पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि राज्य सरकार ने पंचायतों के डिजिटल पंचायत होने का जो सपना देखा था वो अब पूरा हो रहा है। गांव में ही ग्राम सचिवालय की स्थापना के साथ अब गांव के लोगों को अधिकतम सुविधाएं एक ही प्रांगण में अपने ही गांव में मिलने लगी हैं। कृषि मंत्री रविवार को दादरी तोए गांव में ग्रामीण सचिवालय दिवस के मौके पर आयोजित ग्राम सभा की बैठक शामिल होने पहुंचे थे। इससे पूर्व उन्होंने ग्राम सचिवालय प्रांगण में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री स्व. लाल बहादुर शास्त्री जयंती पर पुष्प अर्पित कर उन्हें याद किया। श्री धनखड़ ने ग्राम सचिवालय में विभिन्न कार्यालयों का निरीक्षण करते हुए काम-काज की प्रक्रिया भी जानकारी ली।
उन्होंने कहा कि ग्रामीण सचिवालय के माध्यम से गांवों और सरकार के बीच संवाद प्रक्रिया अधिक तेजी के साथ होगी। ग्राम सभा को उन्होंने ग्रामीणों के लिए अति महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि ग्राम सभा की बैठक पारदर्शिता की ओर एक बड़ा कदम है। उन्होंने ग्रामीणों से आह्वान किया कि सभी वर्गों के लोग ग्राम सभा की बैठक में भागीदारी जरूर करें और अपने गांव-गली के विकास के मुद्दों से संबंधी चर्चा करें। ग्राम के विकास में सांझी भागीदारी होगी तो गांव का विकास और भी अधिक तेजी से होगा। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि हरियाणा प्रदेश के लिए यह गौरव की बात है कि प्रदेश में आज पढ़ी लिखी पंचायतें हैं इस नाते पंचायते आंख झुकाकर नहीं बल्कि आंख मिलाकर बात करने में सक्षम है। उन्होंने कहा कि किसी भी गांव का विकास  दो तरीकों से हो सकता है, एक इसमें सरकार पर निर्भरता है। दूसरा तरीका यह है कि वे अपने गांव का गौरव दिवस मनाए। इस दिवस पर मूल रूप से अपने गांव के सफल लोगों का बुलाया जाए और गांव के विकास के साथ जोड़ा जाए।
स्वच्छता को अच्छे स्वस्थ और शुद्ध वातावरण की चाबी बताते हुए ग्रामीण एवं पंचायत विकास मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने पूरे देश को स्वच्छ देश बनाने का जो लक्ष्य तय किया है उसमें हरियाण प्रदेश तेजी से आगे बढ़ रहा है। प्रदेश के तीन जिलों पंचकूला, सिरसा एवं पानीपत को खुले में शौच मुक्त जिलों के तौर पर घोषित किया गया है। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ उपस्थित लोगों को कहा कि झज्जर को भी इन जिलों की श्रेणी में शामिल करने के लिए गंभीरता से काम होना चाहिए। कृषि मंत्री के आह्वान पर दादरीतोए के ग्रामीणों ने ग्राम सभा की बैठक में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास किया कि गांव का कोई भी व्यक्ति खुले में शौैच नहीं जाएगा। श्री धनखड़ ने गांव की स्वच्छता के लिए अगले 15 दिनों में ही गांवों में अलग-अलग स्थानों पर कूड़ेदान की व्यवस्था करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने गांव की बेहतर लिंगानुपात की सराहना करते हुए गांव में महिलाओं के लिए सिलाई सेंटर खुलवाने की भी घोषणा की।
इस मौके पर उपायुक्त आर.सी. बिढ़ाण ने ग्राम सभा की बैठक में कहा कि ग्राम सचिवालय मंदिर की तरह है, और प्रयास हो कि यहां मंदिर की तरह पवित्रता से काम हो ताकि गांवों के विकास को गति मिले। उन्होंने कहा कि ग्राम सभा की बैठकों में ग्रामीण अपनी सक्रिय भागीदारी रखें। ग्राम सरपंच सूरत सिंह सिंह नेे कृषि व ग्रामीण विकास तथा पंचायती राज मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ का स्वागत किया। इस मौके पर अतिरिक्त उपायुक्त डा. नरहरि बांगड़, एस.डी.एम. प्रदीप कौशिक, डीडीपीओ विशाल कुमार, जिप अध्यक्ष परमजीत सिंह, उपाध्यक्ष योगेश सिलानी, भाजपा जिलाध्यक्ष बिजेंद्र दलाल, आनंद सागर, मनीष बसंल, संत सुरहेती व कृष्ण कोट सहित पंचायती संस्थाओं के अनेक प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Leave a Comment