पानीपत,(5555 रमादेवी )  स्वच्छता का सीधा सम्बंध मन की सोच से होता है। जब तक हम मन से इस कार्य को नही करेंगे तो स्वच्छता को कायम नही रख पाएंगे। इसलिए सभी जनप्रतिनिधियों विशेषकर पंचायती राज संस्थाओं के सदस्यों को इस अभियान की उपलब्धियों को कायम रखने में अपना अहम योगदान देना होगा। इसलिए जहां प्रदेश को खुले में शौच मुक्त बनाना जरूरी है वहीं लोगो के स्वभाव में परिवर्तन लाना उससे भी ज्यादा जरूरी है। गन्दगी के प्रति घृणा का भाव रखना भी अनिवार्य है। जब से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस मामले में लोगो को जागरूक किया है तब से लोगो के स्वभाव में बदलाव आने लगा है। यह आह्वान कृषि, विकास एवं पंचायत मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने स्थानीय आर्य कॉलेज सभागार में आयोजित स्वच्छ हरियाणा-स्वच्छ भारत एवं पुनीत पानीपत-प्रबल पानीपत मिशन के तहत खुले में शौच मुक्त पानीपत समारोह में बतौर मुख्यअतिथि बोलते हुए किया। परिवहन एवं आवास मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की और मुख्य संसदीय सचिव बख्शीश सिंह विर्क विशिष्ठ अतिथि के रूप में मौजुद रहे। कार्यक्रम में  विधायक महिपाल ढांडा व रविन्द्र मछरौली, अतिरिक्त मुख्य सचिव नवराज सन्धु, केन्द्रीय पेय जल एवं स्वच्छता मंत्रालय भारत सरकार के संयुक्त सचिव सत्यव्रत साहु, पंचायती राज विभाग के निदेशक अशोक मीणा विशेष अतिथि के रूप में मौजूद रहे। कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप प्रज्वलित कर और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के चित्र पर पुष्प अर्पित कर किया गया।
कृषि, विकास एवं पंचायत मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज हम देश के ऐसे दो महान सपूतों की जंयती मना रहे हैं जिन्होंने भारत को स्वच्छ एवं समृद्ध राष्ट्र बनाने का मंत्र दिया था। राष्ट पिता महात्मा गंाधी ने जहां संसार को स्वच्छता का पाठ पढ़ाया वहीं पूर्व प्रधान मंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने जय जवान-जय किसान और प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने जय जवान-जय किसान और जय विज्ञान का नारा देश के उत्थान के लिए दिया। परिणामस्वरूप आज देश सभी दिशाओं में तेजी से आगे बढ रहा है, लेकिन जब तक देश का ग्रामीण व शहरी क्षेत्र पूरी तरह खुले में शौच मुक्त एवं स्वच्छ नही होगा तब तक देश को एक विकसित राष्ट्र नही कहा जा सकता। इसलिए पानीपत जिला के सभी जनप्रतिनिधि, पंचायती राज संस्थाओं के सभी सदस्य, सभी अधिकारी और पानीपत के कर्मठ जनता बधाई की पात्र है जिनके प्रयासों से पानीपत जिले का ग्रामीण क्षेत्र को खुले में शौच मुक्त घोषित किया गया है। इन्हीं प्रयासों का नतीजा है कि नई दिल्ली के विज्ञान भवन में जिला के उपायुक्त डा0 चन्द्रशेखर खरे को  खुले में शौच मुक्त जिला पानीपत पुरस्कार दिया गया है।
उन्होंने कहा कि  कहा कि पानीपत सहित भारत के कुल 27 जिलों को खुले में शौच मुक्त जिला घोषित किया गया है और भारत के एक लाख गांव को खुले में शौच मुक्त घोषित कर दिया गया है और 405 शहरों को भी खुले में शौच मुक्त किया जा चुका है, यही नही देश में दो करोड़ 50 लाख शौचालय बनाए जा चुके हैं ताकि देश-विदेश का कोई पर्यटक भारत में पर्यटन पर आए तो उसे स्वच्छ व सुंदर भारत नजर आए।
मंत्री धनखड़ ने लोगो से अपील कि की आप अपने प्रदेश, अपनी मां-बहनों के सम्मान और बच्चों के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए खुले में शौच जाने की आदत पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने के लिए हमेशा तत्पर रहें और समय-समय पर श्रमदान के माध्यम से भी अपने गांव को स्वच्छ बनाने में पूर्ण सहयोद दें ताकि जब विश्व बैंक की टीम सर्वे करने आए तो उसे साफ, स्वच्छ व सुंदर हरियाणा नजर में आए। सुबह के समय एक और जहां लोग मंदिरों में भगवान का नाम लेते हैं वही सड़कों के किनारे व रेल की पटरियों के पास खुले में शौच करते लोगो को देखकर शर्म से सिर झुक जाता है।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए परिवहन मंत्री कृष्णलाल पंवार ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे सभ्य देश है। प्रभु ने यहां सभी प्राकृतिक सुविधाएं दी है। प्राकृतिक आपदाएं भी दूसरों से कम यहां होती है लेकिन स्वच्छता के मामले में हमारा देश दूसरे देशों से काफी पीछे है। लोगो को मानसिक रूप से इसके लिए तैयार करना होगा। इसलिए समय-समय पर गांव में, स्कूल, कॉलेजों में स्वच्छता जागरूकता शिविरों का आयोजन करते रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिन गांवों की आबादी 10 हजार या उससे अधिक है उन गांवों में गन्दे पानी की निकासी के लिए सीवर सिस्टम लागू किया जाएगा और गन्दे जल का शुद्धिकरण करके खेती लायक बनाया जाएगा। उन्होंने सभी ग्रामीण जनप्रतिनिधियों से अनुरोध किया कि वे सरकार की सभी योजनाओं के लिए घोषित कि गई धनराशि का 31 मार्च का इंतजार किए बगैर शीघ्र विकास कार्यो पर खर्च करें।
मुख्य संसदीय सचिव प्रभारी विकास एवं पंचायत विभाग बख्शीश सिंह विर्क ने कहा कि समय तेजी से बदल रहा है और हर आदमी को समय के साथ अपने आप को बदलना होगा। अपनी सभी बुरी आदतों को छोडऩा होगा और जब देश के 125 करोड़ लोग देश को स्वच्छ बनाने की प्रतिज्ञा लेंगे तो वह दिन दूर नही जब पूरा भारत सुंदर बन जाएगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा में हमेशा से ही नए-नए प्रयोग और प्रेरणादायक घटनाएं होती रही है और हरियाणा ने ही देश को पढ़ी-लिखी शिक्षित पंचायतें दी है और पंचायती राज संस्थाओं मे ं33 प्रतिशत के मुकाबले 43 प्रतिशत शिक्षित महिला चुनाव जीतकर आई और स्वच्छता का सीधा सम्बंध महिलाओं से है। इसलिए उन्हें पूरी उम्मीद है कि महिला समाज इस कार्यक्रम को सफल बनाने में और अधिक सहयोग देगा।
विकास एवं पंचायत विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव नवराज सन्धु ने कहा कि आज का दिन पानीपत जिला के लिए मील का पत्थर साबित होगा और ग्रामीण ही नही शहरी क्षेत्र भी शीघ्र ही खुले में शौच मुक्त हो जाएगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा में खुले में शौच मुक्त गांव को एक लाख, ब्लॉक समिति को 5 लाख और जिला परिषद को 20 लाख रूपये का पुरस्कार दिया जाएगा।
केन्द्रीय पेय जल एवं स्वच्छता मंत्रालय के संयुक्त सचिव सत्यव्रत शाहू ने कहा कि हरियाणा में 3 जिले खुले में शौच मुक्त घोषित किए गए हैं जिनमें पंचकूला, सिरसा और पानीपत शामिल हैं  और अब जिस तेजी से कार्य चल रहा है उससे लगता है कि वर्ष 2017 से पूर्व ही पूरा हरियाणा खुले में शौच मुक्त बन जाएगा। शाहू ने कहा कि आज ही के दिन पूरे भारत वर्ष में मंत्रालय की ओर से 24 जिलों में प्रशासनिक अधिकारियों की इस तरह के कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए डयुटी लगाई गई है। उन्होंने कहा कि इस चरण के बाद अगले चरण, ओडीएफ प्लस में ठोस एवं तरल कूड़ा प्रबंधन पर जोर दिया जाएगा।
पंचायती राज विभाग के निदेशक अशोक मीणा ने कहा कि जब से शिक्षित पंचायतें अस्तीत्व में आई है तब से ग्रामीण क्षेत्र के विकास को विशेष गति मिली है और सरकार के पास विकास के लिए धनराशि की कोई कमी नही है। इसलिए सभी पंचायतें अपना ऐजेण्डा ग्राम सभाओं में पास करवाएं और शीघ्र सरकार के पास भेज दें।
उपायुक्त डा0 चन्द्रशेखर खरे ने पानीपत पहुचने पर सभी का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि पानीपत को ग्रामीण स्तर पर खुले में शौच मुक्त करने में सरपंच और जनप्रतिनिधियों की विशेष भूमिका रही है। उन्होंनेे इस कार्य के लिए अतिरिक्त उपायुक्त राजीव मेहता की मुक्त कंठ से प्रशंसा की और कहा कि भविष्य में इस कार्यक्रम को स्थायीत्व प्रदान करने के लिए हमें सामुहिक पहल कर और ज्यादा मेहनत करनी होगी।
अतिरिक्त उपायुक्त राजीव मेहता ने कार्यक्रम में आए सभी अतिथियों और गणमान्य लोगो व सरपंचों का धन्यवाद देते हुए कहा कि खुले में शौच मुक्त अभियान के पंचायती राज संस्थाओं के सभी सदस्य विशेषकर सरपंच उनके साथ कदम से कदम मिलाकर खड़े रहें और गांव में उनका पूरा सहयोग सरपंचों ने दिया यही नही जिला उपायुक्त ने भी जिले को खुले में शौच मुक्त बनाने के लिए उन्हें पूरा सहयोग व पूरा समय दिया। इस अवसर पर एक लघु फिल्म के माध्यम से इस अभियान की पूरी जानकारी लोगो को दी गई। कार्यक्रम में स्वच्छता को लेकर प्रर्दशनी भी स्कूली बच्चों द्वारा लगाई गई। जिसका अवलोकन भी किया गया। कार्यक्रम को विधायक महिपाल ढांडा, विधायक रविन्द्र मछरौली, ने भी सम्बोधित किया और अपने अनुभव सांझा किए। कार्यक्रम में परिवहन मंत्री ने सभी को स्वच्छता शपथ दिलवाई और मंच पर बैठे सभी जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों को सम्मानित भी किया। कार्यक्रम में उपायुक्त चन्द्रशेखर खरे ने मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ और अतिरिक्त उपायुक्त राजीव मेहता ने परिवहन मंत्री कृष्णलाल पंवार को स्मृति चिन्ह भेंट किया। सभी खंण्डों की सरपंच एसोसिएशनों के प्रधान व उप प्रधानों ने मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ का फूलों के हार से स्वागत किया। कार्यक्रम के अंत में परिवहन मंत्री कृष्णलाल पंवार ने स्वच्छता रैली को भी हरी झण्डी दिखकर रवाना किया। लोगो को स्वच्छता अभियान से जोडऩे के लिए हस्ताक्षर अभियान भी चलाया गया।
इस अवसर पर बीजेपी केजिला अध्यक्ष प्रमोद विज, पूर्व जिला अध्यक्ष गजेन्द्र शलूजा, पार्षद दुष्यंत भट्ट, एसडीएम विवेक चौधरी, समालखा एसडीएम गौरव कुमार, डीडीपीओ रूपेन्द्र मलिक, बीडीओ अशौक छिकारा, रितु लाठर, जितेन्द्र शर्मा, सभी खंण्डों के सरपंच व आर्य कॉलेज के प्राचार्य डा0 जगदीश गुप्ता भी उपस्थित थे।
फोटो परिचय-5521 गुब्बारे छोड़ते हुए, 5549 प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए, 5555 दीप प्रज्जवलित करते हुए, 5591-92 उपस्थित जिला परिषद सदस्य व सरपंचगण, 5594 उपायुक्त डा0 चन्द्रशेखर खरे सम्बोधित करते हुए, 5609 अतिरिक्त मुख्य सचिव नवराज सन्धु सम्बोधित करते हुए, 5627 विभिन्न सरपंच फूलों के हार से सम्मानित करते हुए, 5737 मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ को स्मृति चिन्ह भेट करते हुए उपायुक्त चन्दशेखर खरे, 5780 कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ सम्बोधित करते हुए, 5794 मुख्य संसदीय सचिव सम्बोधित करते हुए, 5808 शपथ लेते हुए, 5827 परिवहन मंत्री उपायुक्त चन्द्रशेखर खरे को सम्मानित करते हुए, 5831 एडीसी परिवहन मंत्री को स्मृति चिन्ह देते हुए, 5880 परिवहन मंत्री झण्डी दिखाकर स्वच्छता रैली को रवाना करते हुए, व 5634, 5628, 5653, 5737

Leave a Comment