सच्चे समाज सुधार से स्वामी दयानंद सरस्वती : कविता जैन  -महर्षि दयानंद सरस्वती मार्ग का किया नामकरण, कहा उचित स्थान पर प्रतिमा भी स्थापित होगी  -कहा, सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ युवा वर्ग को आगे आना होगा 

007
सोनीपत,( आदेश त्यागी घासोली )   प्रदेश की महिला बाल विकास, सूचना जनसंपर्क, भाषा एवं शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन ने कहा कि स्वामी दयानंद सरस्वती सच्चे अर्थों में एक समाज सुधारक थे। उन्होंने अपना पूरा जीवन समाज में चली आ रही कुरीतियों को समाप्त करने और भावी पीढ़ी को नया रास्ता दिखाने के लिए समर्पित किया। श्रीमती जैन रविवार सांय कुम्हार धर्मशाला में महर्षि दयानंद सरस्वती मार्ग का नामकरण करने के उपरांत आर्य प्रतिनिधि सभा बड़ा बाजार द्वारा आयोजित कार्यक्रम में संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि इस सड़क को स्वामी दयानंद सरस्वती के नाम पर रखने की मांग लंबे समय से चली आ रही थी और आज वह शुभ दिन आया है जब इस सड़क का नामकरण किया गया है। स्वामी दयानंद सरस्वती ने भी समाज सुधार के लिए जन भागीदारी को अहम बताया था। स्वामी जी ने समाज से अनेक कुरीतियों का अंत किया। इनमें मैला प्रथा जैसी भयानक कुरीति का अंत भी शामिल था। दो अक्टूबर के दिन को शुभ बताते हुए कैबिनेट मंत्री ने कहा कि आज हम महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री का जन्मदिन धूमधाम से मना रहे हैं। उन्होंने कहा कि  के बताए रास्ते पर आगे बढ़ते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी 15 अगस्त 2014 को स्वच्छ भारत अभियान की शुरूआत की थी। लेकिन इस अभियान को आगे बढ़ाने के लिए उन्होंने जन भागीदारी को अहम बताया।
कार्यक्रम में भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी राजीव जैन ने कहा कि इस सड़क के नामकरण को लेकर पिछले काफी समय से मांग चली आ रही थी। अब वेद प्रचार मंडल द्वारा यह याद दिलवाया गया और बगैर किसी विलंब के सड़क का नामकरण महर्षि दयानंद सरस्वती के नाम से कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि जल्द ही उचित स्थान देखकर महर्षि स्वामी दयानंद सरस्वती की प्रतिमा भी स्थापित की जाएगी। भाजपा नेता ने कहा कि शहर के अन्य प्रमुख रास्तों का नामकरण भी महापुरुषों के नाम से किया जाएगा।
उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आज पाठ्यक्रमों में महापुरुषों के जीवनियों को कम स्थान मिलता है। ऐसे में जब भी बच्चे इस सड़क से गुजरेंगे तो वह स्वामी दयानंद सरस्वती को याद करेंगे और उनके जीवन से प्रेरणा लेंगे। इस अवसर पर आर्य प्रतिनिधि सभा के प्रधान आचार्य विजयपाल, वैदिक प्रवक्ता आचार्य सोमदेव, आचार्य सत्यवीर, आर्य प्रतिनिधि सभा के मंत्री रामपाल आर्य, वेद प्रचार मंडल सोनीपत के प्रधान रमेश आर्य, आर्य समाज बड़ा बाजार के प्रधान सुभाष चांदना, कपिल देव शास्त्री, मुकेश रावत, वीरसैन आर्य, हरिश्चंद्र स्नेही, वेदप्रकाश आर्य, वेदमुनि वानप्रस्थी, आनंद आर्य रोहणा, सुरेंद्र आर्य, ओमप्रकाश आर्य, प्राचार्य जितेंद्र छिक्कारा, सतीश शास्त्री सहित सैकड़ों गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Leave a Comment