असत्य पर सत्य की जीत धू-धूकर जले रावण, मेघनाथ व कुंभकरण के । पुरानी अनाज मंडी में रावण दहन का दृश्य। 

सोनीपत  (11Snp-4 आदेश त्यागी घसौली )  जिले में मंगलवार को दशहरा पर्व बड़ी धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ परम्परागत ढंग से मनाया गया। असत्य पर सत्य की विजय के रूप में रावण, मेघनाथ और कुंभकरण के पुतलों का दहन किया गया। शहर के विभिन्न क्षेत्रों में मनमोहक झाकियां तथा शोभा यात्राएं निकाली गई। इसके साथ ही अलग-अलग स्थानों पर मेलों का आयोजन भी किया गया। इस पर्व के दृष्टिगत सभी बाजारों में खासी चहल पहल रही। पुलिस ने सुरक्षा की दृष्टि से व्यापक प्रबंधक किए थे।
शहर के प्राचीन सिद्धपीठ श्री ठाकुर द्वारा पंचायती मंदिर बड़ा हलवाई हट्टा द्वारा कामी रोड स्थित रामलीला मैदान में रावण, कुंभकरण व मेघनाद के पुतले बनाए गए हैं। समिति के प्रधान विजय गौतम ने बताया कि रावण का 55 फुट व मेघनाद और कुंभकरण के 52-52 फुट के पुतले बनाए गए थे। रावण दहन कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री कविता जैन व राजीव जैन ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की। शिव शक्ति सेवा समिति की तरफ से पुरानी अनाज मंडी में करीब 25 फुट का रावण दहन किया गया। इस मौके पर रामलीला का मंचन भी किया गया। जिसमें सुरेश मित्तल ने राम, श्याम वशिष्ठ ने लक्ष्मण, प्रताप ने रावण, मत्थु माथुर ने हनुमान, संजय वर्मा ने मेघनाथ, आशीष जैन ने विभिक्षण व संजय गोयल ने अंगद का रोल बेखुनी निभाया।
मुख्य अतिथि कैबिनेट मंत्री कविता जैन व राजीव जैन ने कहा कि बुराई पर अच्छाई के प्रतीक इस पर्व पर हमें यह प्रण लेना चाहिए कि हम बुराईयों का त्याग कर सच्चाई व अच्छे रास्तों पर चलेंगे। उन्होंने कहा कि हमें मर्यादा पुरषोत्म श्रीराम के चरित्र का अनुसरण करते हुए उसे आत्मसात करना चाहिए। उन्होंने कहा कि रामायण का प्रत्येक सार हमें एक सीख प्रदान करता है। इसलिए हमें चाहिए कि रामायण में कहीं गई बातों का अनुसरण करें।
इसके अलावा अन्य संस्थाओं ने अपने-अपने क्षेत्रों में भव्य शोभा यात्राएं निकाली, जो मुख्य मार्गों से होती हुई रावण दहन स्थल पर पहुंची। जहां विधिवत ढंग से बुराई के प्रतीक रावण का पुतला फूंका गया। उक्त प्रमुख स्थानों के अलावा आसपास के क्षेत्रों में भी दर्जनों जगहों पर रावण के पुतलों का दहन किया गया। शहर में जहां भी झाकियां निकली उन रास्तों पर समाज सेवी संगठनों व श्रद्धालुओं ने पानी तथा प्रसाद का प्रबंध कर रखा था। दोपहर बाद बाजारों में इतनी अधिक भीड़ हो गई कि वाहनों का आवागमन भी प्रभावित हो गया। इस पर्व के दृष्टिगत जिला पुलिस प्रमुख हरदीप सिंह दूहन ने सुरक्षा के व्यापक प्रबंधक कर रखे थे। हर शोभा यात्रा में पुलिस के सिपाही साथ-साथ चल रहे थे। आला अधिकारी भी लगातार गश्त कर रहे थे। भीड़ को नियंत्रित करने में उन्हें काफी मशक्कत करनी पड़ी।
झांकियां देखकर मंत्रमुग्ध हुए लोग
दशहरे के अवसर पर शहर में झांकियां निकाली गई व रावण दहन किया गया। दशहरे के चलते खरखौदा में आसपास के गांवों से काफी भीड़ जुटी। जिसके चलते शहर में जाम की स्थिति भी दिन भर बनी रही। सनातन धर्म रामलीला कमेटी व प्राचीन भारत रामलीला कमेटी द्वारा मनमोहक झांकियां निकाली गई। शहर के भर से गुजरी इन झांकियों को देखकर दर्शक मंत्रमुग्ध होते दिखाई दिए। दशहरे पर्व के चलते जहां खरखौदा के मुख्य बाजार व मुख्य सडक़ों पर भीड़ जुटी। वहीं रावण दहन स्थल पर भी भारी संख्या में लोगों की भीड़ पहुंची। शाम को खरखौदा की अनाज मंडी के साथ लगते मैदान, राम चौक  में रावण दहन किया गया।
कविता जैन ने कहा कि समाज में भ्रष्टाचार, भू्रण हत्या एवं अस्वच्छता जैसी बुराईयों को खत्म करने के लिए आमजन से कमर कसने का आह्वान किया। उन्होंने बुराई के प्रतीक प्रत्येक सामाजिक कुरीति के खिलाफ जागरूक होकर ऐसी लडाई लडने का आह्वान किया, जिससे समाज में रामराज स्थापित किया जा सके। उन्होंने कहा कि वक्त की मांग हो चुकी है कि अब हर घर में राम आये, तभी हमारे समाज में बदलाव लाना सम्भव होगा।  उन्होंने कहा कि समाज में एक परंपरा चल रही है कि विजय दशमी के अवसर पर सभी बुराईयों को खत्म करने का प्रण लेने की बात करते हैं, जबकि हमें एकजुट होकर हर दिन उन सामाजिक कुरीतियों से लडने के लिए संकल्प लेना चाहिए, जो हमारे समाज को बांटती हैं। उन्होंने दशहरा पर्व पर एकत्रित आमजन को संबोधित करते हुए कहा कि अपने अंदर की बुराईयों को खत्म करने का आज प्रण लेना चाहिए, ताकि देश एवं समाज को मजबूती की ओर लेकर चलें। विशिष्ट अतिथि के तौर पर प्रदेश भाजपा मीडिया प्रमुख राजीव जैन ने कहा हमें मिलकर जातिवाद, क्षेत्रवाद, प्रदूषण, नशाखोरी के खिलाफ आवाज उठानी होगी ओर अपने युवाओं को प्रेरित करना होगा कि वह कुरीतियों को जड से विनाश करने के लिए आगे आएं। उन्होंने आमजन से आह्वान किया कि वह बुराई को खत्म करने के लिए प्रत्येक अच्छी मुहिम में अपना योगदान दे, तभी हमारे समाज को सशक्त किया जा सके। उन्होंने आज के दिन अपने अंदर की एक बुराई को भी छोडने का प्रण लेना चाहिए, इससे हमें अपने जीवन में आगे बढने का अवसर मिलेगा।

Leave a Comment