अवैध हथियारों सहित लूट की योजना बनाते सरगना सहित सोनीपत पुलिस ने किया गिरफतार, एक दर्जन हत्या, लूट, डकैती, अपहरण व अवैध हथियारों की अपराधिक घटनाआंेे का किया खुलासा, न्यायालय में पेशकर लिया पुलिस रिमाण्ड

accused loot by cia spt (1)
सोनीपत ( आदेश त्यागी घसौली )  जिले की सी0आई0ए स्टाफ सोनीपत पुलिस ने अन्तरराज्यीय लूट गिरोह के शतिर बदमाशो की भारी मात्रा में अवैध हथियारों सहित लूट की योजना बनाते सरगना सहित गिरफतार किया है। गिरफतार आरोपी विक्रम उर्फ घुस्सी पुत्र सुभाष चन्द्र निवासी हाउसिंग बोर्ड कालोनी सोनीपत, नीरज पुत्र राजबीर, रिन्कू पुत्र अनिल कुमार, जसबीर पुत्र महासिंह निवासी सिवाह जिला पानीपत व मन्नू शर्मा पुत्र प्रमोद निवासी लाल सड़क हासी जिला हिसार का रहने वाला है।      उप पुलिस महानिरीक्षक एवं पुलिस अधीक्षक श्री हरदीप सिंह दून ने पत्रकारों एवं मिडिया कर्मियों को सम्भोदित करते हुये बतलाया कि डी0एस0पी0 श्री राहुल देव के निर्देशानुसार सी0आई0ए0 स्टाफ सोनीपत प्रभारी निरीक्षक इन्दीवर गत रात्री अपनी पुलिस पार्टी के साथ अपराधियों एवं असामाजिक तत्वों की खोज में आउटर रोड़ सैक्टर 15 की सीमा में मौजूद था कि इन्हें अपने विश्वस्त सूत्रों से पता चला कि कुछ बदमाश अवैध हथियारों सहित करेटा गाड़ी में बैठकर राहगीरों को लूट की योजना बना रहे है। इस सूचना पर पुलिस पार्टी द्वारा अविलम्ब कार्यवाही करते हुये गाड़ी सहित बदमाशों को धर दबोचा। नाम व पता पूछने पर अपनी पहचान विक्रम उर्फ घुस्सी पुत्र सुभाष चन्द्र निवासी हाउसिंग बोर्ड कालोनी सोनीपत, नीरज पुत्र राजबीर, रिन्कू पुत्र अनिल कुमार, जसबीर पुत्र महासिंह निवासी सिवाह जिला पानीपत व मन्नू शर्मा पुत्र प्रमोद निवासी लाल सड़क हासी जिला हिसार के रूप में दी। तलाशी लेने पर कब्जा से दो अवैध देशी पिस्तोल 9 एम0एम0, 2 जिन्दा कारतूस, तीन अवैध देशी पिस्तौल 32 बोर व 15 जिन्दा कारतूस व एक खतरनाक खोखरी मिली। गिरफतार आरोपियों के  विरूध शस्त्र अधिनियम व भारतीय दंड सहिंता की धाराओं के अनतर्गत थाना सिविल लाईन सोनीपत में अभियोग दर्ज किया गया।
अपने कथन को जारी रखते हुये बतलाया कि गिरफतार आरोपियों से प्रारम्भिक पूछताछ करने पर अपने किये अपराधों की स्वीकारोक्ति करते हुये बताया कि इस करेटा गाड़ी को दिल्ली से चोरी किया था। गिरोह का सरगना विक्रम उर्फ घुस्सी ने वर्ष 2008 में मुख्य सिपाही सत्यवान की हत्या करने की घटना में पैरोल पर आकर भगौड़ा होकर अवैध हथियार खरीदकर अपना लूट गिरोह तैयार किया है।
          गिरफतार आरोपियों से विश्लेषणात्मक पूछताछ करने पर अपने किये अपराधों को विसतार पूर्वक बताया कि विक्रम उर्फ घुस्सी हत्या के मामले में पैरोल जम्प किया इस घटना का थाना शहर सोनीपत में अभियोग दर्ज है।
          फरवरी 2016 में मुरथल गांव से ए0टी0एम0 लूटने का प्रयास करने की घटना को अन्जाम दिया था।
          मार्च 2016 में माडल टाउन करनाल में सरदाना के मकान पर गोली चलाने की घटना को अन्जाम दिया था।
         अपै्रल 2016 में जिला हिसार से अपहरण कर फॉरच्यूनर गाड़ी तथा 2 लाख रूपये लूटने की घटना को अन्जाम दिया था।
         अपै्रल 2016 में कुण्डली बार्डर से हथियार के बल पर फॉरच्यूनर गाड़ी लूटने की घटना को अन्जाम दिया था।
         अपै्रल 2016 में चण्डीगढ़ के धनास गांव से एक पिकअप डाला चोरी करने की घटना को अन्जाम दिया था।
          मई 2016 में अम्बाला जेल के नजदीक से होण्डा अमेज गाड़ी चोरी करने की घटना को अन्जाम दिया था।
          मई 2016 में पानीपत शहर से एक वैगनार कार को चोरी करने की घटना को अन्जाम दिया था।
          करीब एक महीने पहले दिल्ली स्थित राजौरी गार्डन से करेटा गाड़ी लूटने की घटना को अन्जाम दिया था।
          करीब डेढ़ महिने पहले दिल्ली पश्चिम विहार से एक होण्डा सिटी गाड़ी चोरी करने की घटना को अन्जाम दिया था।
          करीब डेढ़ महिने पहले सैक्टर 14 सोनीपत से एक मकान में घुसकर लूटपाट कर आभूषण तथा नकदी लूटने की घटना को अन्जाम दिया था।
           गिरफतार आरोपियों को आज न्यायालय में पेश कर पुलिस रिमाण्ड पर लिया गया है।

Leave a Comment