समस्याओं के समाधान के लिए अधिकारी कार्यालयों में जनता को दें समय : नायब सैनी

सोनीपत,( आदेशIMG-20161123-WA0046 त्यागी ), सोनीपत ,प्रदेश के भूगर्भ एवं खनन राज्यमंत्री नायब सिंह सैनी ने कहा कि जनता की समस्याओं का समाधान ही हमारी प्राथमिकता है। अधिकारी अगर अपने काम को गंभीरता से करें और फिल्ड और कार्यालयों में जनता को ज्यादा से ज्यादा समय दें तो अधिकतर समस्याओं का वहीं पर समाधान हो सकता है।
उन्होंने कहा कि जिला कष्ट निवारण एवं परिवाद समिति और उपायुक्त कार्यालय तक तभी शिकायत पहुंचती है जब उनका विभागीय स्तर के कार्यालयों में समाधान नहीं होता। ऐसे में सभी विभाग और अधिकारी अपने स्तर पर जनता की शिकायतों के समाधान के लिए सिस्टम तैयार करें। उन्होंने कहा कि वर्तमान भाजपा सरकार देश व प्रदेश के विकास के लिए लगातार कार्य कर रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 व 1000 रुपए के नोट बंद कर भ्रष्टाचार, कालाबाजारी और काले धन पर करारी चोट की है। उन्होंने कहा कि देश की 125 करोड़ जनता प्रधानमंत्री के इस फैसले से खुश है और आने वाले समय में इसके बेहतर परिणाम देखने को मिलेंगे।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल की कल्याणकारी योजनाओं की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री प्रदेश के सभी 90 हलकों में समान विकास कर रहे हैं। यह पहली बार है जब किसी मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी 90 हलकों का दौरा किया और खासकर उनका जहां सत्ता पक्ष का कोई एमएलए भी नहीं है।
श्री सैनी ने कहा कि दो साल के अंदर वर्तमान सरकार ने निष्पक्ष ढंग से कार्य करते हुए सभी वर्गों को साथ लेकर चलने का काम किया है।
इस दौरान जिला परिवाद एवं कष्ट निवारण समिति की मीटिंग में 15 परिवाद रखे गए। इसके अलावा 118 अन्य शिकायतें दर्ज की गई। इनमें पहला परिवाद अतर सिंह, रामेश्वर निवासी लिवासपुर ने फैक्ट्रियों द्वारा गंदा पानी छोड़े जाने की शिकायत रखी। इस  पर एसडीएम निशांत यादव ने बताया कि तीन फैक्ट्रियों की जांच की गई और किसी भी फैक्ट्री में पानी जमीन के अंदर छोड़ते नहीं पाया गया।  इसके बाद आस-पास के क्षेत्र से पानी के सैंपल लिए गए हैं और जांच के लिए भेजे गए हैं। इस पर उन्होंने आदेश दिए कि पानी के सैंपल मिलने पर मामले में आगे कार्रवाई की जाएगी।
ब्लाक समिति सदस्य मंगल सिंह जांगड़ा ने आहुलाना गांव में पूर्व सरपंच द्वारा सरकारी पैसे के दुरुपयोग और उसके विरूद्ध कार्रवाई न करने की शिकायत की। डीएसपी राहुल देव ने बताया कि इस संबंध में एसआईटी का गठन किया गया है। इस पर श्री सैनी ने एसडीएम गोहाना को निर्देश दिए कि एक महीने के अंदर इस पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए।
लख्मी प्याऊ निवासी दीपक उर्फ बबलू ने फैक्ट्री कर्मी द्वारा हाथ कटने पर मुआवजा न देने की मांग रखी। वहीं महेंद्र सिंह निवासी जाटी खुर्द ने मशीन से गिरकर उसके बेटे की कमर की हड्डी टूटने पर फैक्ट्री मालिक द्वारा इलाज खर्च इत्यादि की मांग की। इस पर दोनों मामलों में आरोपियों को मुआवजा दिलवाने पर पूरे मामले में लापरवाही करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की।
प्रेमचंद पुत्र जयचंद निवासी मुकिमपुर ने पट्टे पर ली जमीन पर नगर निगम द्वारा ट्यूबवेल लगवाने की मांग की। इस पर आयुक्त नगर निगम को पूरे मामले की जांच करने और निपटाने के आदेश दिए गए।
 धर्मपाल निवासी ककरोई रोड ने पश्चिमी यमुना नहर पर महलाना गांव में लोहे का पुल बनाए जाने की शिकायत रखी और कहा कि इसे भी अभी तक शुरू नहीं किया गया। इस पर एचएसआरडीसी के एक्सईएन ने बताया कि ढाई महीने के अंदर इस पुल को यातायात के लिए खोल दिया जाएगा।
धर्मवीर निवासी भटगांव निवासी धर्मवीर ने चार महीने पहले चोरी हुए बिजली के तार न लगाए जाने की शिकायत की। इस पर एक्सईएन बिजली निगम ने बताया कि स्टोर में तार न उपलब्ध होने की वजह से देरी हुई है। इस पर लापरवाही करने वाली अधिकारी की जिम्मेदारी फिक्स करने के आदेश दिए गए।
मीटिंग में भाजपा प्रदेश मीडिया प्रभारी राजीव जैन, भाजपा जिलाध्यक्ष डा. धर्मवीर नांदल, जिला परिषद चेयरमैन मीना नरवाल, प्रदेश उपाध्यक्ष कविता चौधरी, उपायुक्त के मकरंद पांडुरंग, मोहन लाल बड़ौली,  एसडीएम निशांत यादव, एसडीएम गोहाना अजय कुमार, एसडीएम खरखौदा राजीव अहलावत, एसडीएम गन्नौर डा. निर्मल नागर, नगर निगम कमिश्नर जोगेंद्र हुड्डा, सीटीएम सुरेंद्र दून, आरटीओ सुशील कुमार, डीएसपी प्रदीप कुमार,तहसीलदार हरीओम अत्री, डीएसपी राहुल देव, डीएसपी गन्नौर ओमप्रकाश सहित सभी विभागों के अधिकारी, जिला परिवाद एवं कष्ट निवारण समिति के सदस्य मौजूद थे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *