चण्डीगढ़ हरियाणा सरकार ने प्रदेश के बेरोजगार स्नातक युवाओंपहली अप्रैल, 2017 से इस योजना के दायरे को बढ़ाने का निर्णय लिया है

चण्डीगढ़,इंडिया की दहाड़ ब्यूरो     हरियाणा सरकार ने प्रदेश के बेरोजगार स्नातक  युवाओं को अपनी महत्वाकांक्षी ‘‘सक्षम युवा’’ योजना का लाभ प्रदान करने के लिए पहली अप्रैल, 2017 से इस योजना के दायरे को बढ़ाने का निर्णय लिया है। इस आशय का निर्णय आज यहां इस योजना की प्रगति की समीक्षा करने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में लिया गया  वर्तमान में इस योजना के तहत केवल पंजीकृत स्नातकोत्तर बेरोजगार युवाओं को ही एक मास में 100 घंटे कार्य करने की एवज में 9,000 रुपये प्रतिमास देने का प्रावधान है जिसमें 3,000 रुपये का बेरोजगारी भत्ता भी शामिल है।बैठक में बताया गया कि स्नातकोत्तर बेरोजगार युवाओं के लिए शुरू की गई इस योजना के तहत अब तक 9,545 बेरोजगार युवाओं ने सक्षम पोर्टल पर अपना पंजीकरण करवाया है। रोजगार के अवसर उत्पन्न करके इनमेें से 1,356 बेरोजगार स्नातकोत्तर युवाओं को राज्य के विभिन्न विभागों में उनकी रूचि के विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार उपलब्ध करवाया गया है।मुख्यमंत्री ने रोजगार विभाग के प्रधान सचिव  ए.के.सिंह को ऐसे पंजीकृत युवाओं के लिए शीघ्रातिशीघ्र कम से कम 10 विभिन्न क्षेत्रों में कौशल विकास कार्यक्रम शुरू करने के निर्देश दिए जिन्हें इस योजना के तहत अभी मानद कार्य दिया जाना है।  इससे ऐसे युवाओं को उनकी रूचि के क्षेत्र में प्रशिक्षण प्रदान करके उनका कौशल विकास किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि इससे बेरोजगार युवा अपनी पसंद के क्षेत्र में रोजगार प्राप्त कर सकेंगे या स्वरोजगार स्थापित कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि सभी विभागों, बोर्डों, निगमों तथा विश्वविद्यालयों से कहा गया है कि वे भविष्य में विज्ञाप्ति की जाने वाली रिक्तियों के बारे रोजगार कार्यालय को सूचित करें ताकि विभाग पंजीकृत युवाओं को रोजगार के लिए आवेदन करने की सुविधा प्रदान कर सके। पंजीकृत बेरोजगार युवाओं को एसएमएस एवं ई-मेल के माध्यम से इन रिक्तियों बारे सूचित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त, रोजगार उपलब्ध करवाने में सक्षम एजेंसियों के लिए सक्षम पोर्टल में लॉगइन-आईडी या लिंक भी सृजित किया जाना चाहिए ताकि बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार के अवसरों का दायरा बढ़ाया जा सके।बैठक में रोजगार मंत्री  नायब सिंह सैनी, मुख्य सचिव  डी.एस.ढेसी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव  राजेश खुल्लर, उद्योग विभाग के प्रधान सचिव  देवेन्द्र सिंह, हरियाणा राज्य औद्योगिक एवं आधारभूत संरचना विकास निगम के प्रबंध निदेशक  सुधीर राजपाल तथा राज्य सरकार के अन्य वरिष्ठï अधिकारी भी उपस्थित थे।

Leave a Comment