हड़ताल में शामिल कर्मचारियों के निलम्बन पर भड़के रोडवेज कर्मचारी,

बस स्टैंड पर किया दो घंटे का सांकेतिक प्रदर्शन
भिवानी, 23 अगस्त: वीरवार को बस स्टैंड परिसर में हरियाणा रोडवेज वर्कर्स यूनियन संबंधित सर्व कर्मचारी संघ व रोडवेज कर्मचारी यूनियन संबंधित महासंघ की संयुक्त संघर्ष समिति ने उप महासचिव राम आसरे यादव के निलंबन व उत्पीडऩ की कार्रवाई के विरोध में सरकार के खिलाफ 2 घंटे का विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शन की अध्यक्षता डिपो प्रधान हरज्ञान घणघस व राजकुमार दलाल ने संयुक्त रूप से की तथा संचालन डिपो सचिव राजेश शर्मा व रणवीर गोरिया ने किया। संयुक्त संघर्ष समिति के राज्य के नेता नरेंद्र दिनोद,पवन शर्मा, व जगदीश सांगवान ने कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा की रोडवेज के कर्मचारी अपनी जायज मांगों को लेकर पिछले लंबे समय से आंदोलन कर रहे हैं। इसी कड़ी में 7 अगस्त को पूरे प्रदेश में सरकार की कर्मचारी विरोधी व व रोडवेज के निजीकरण के विरोध में सफल हड़ताल की थी। उन्होंने कहा कि हड़ताल की सफलता के बौखलाहट में सरकार ने संघर्ष समिति के नेता राम आसरे यादव को निलंबित कर के उनका हेड क्वार्टर सिरसा फिक्स कर दिया है और अन्य कर्मचारी नेताओं के खिलाफ सरकार उत्पीडऩ की कार्रवाई करने की तैयारी में है तथा बार-बार विरोध करने के बावजूद सरकार 700 बसें ठेके पर लेने की जिद्द पकड़े हुए हैं तथा हड़ताल में भाग लेने वाले चालकों पर कार्यवाही करने की बात कह कर सरकार रोडवेज के कर्मचारियों को डराना चाहती हैं। उन्होंने कहा कि कोई भी आंदोलन उत्पीडऩ से नहीं समस्याओं के समाधान करने से रोका जा सकता है। सरकार किसी गलतफहमी में ना रहकर कर्मचारियों के उत्पीडऩ की कार्रवाई को वापिस ले और 700 बस ठेके पर लेने का अपना फैसला तुरंत प्रभाव से रद्द करें ,अन्यथा पूरे प्रदेश में रोडवेज के कर्मचारी एकजुट होकर सरकार के खिलाफ एक बहुत बड़ा आंदोलन करेंगे। विरोध प्रदर्शन में जोगिंदर शर्मा, संजय सांगवान, सज्जन कुमार, ईश्वर शर्मा, जयसिंह तालु विक्रम सिंह, राजेंद्र सिंह, अमीर सिंह, राज बडेसरा, सुरेंद्र, धूमल, नरेश शर्मा, तेजा सिंह, बलजीत, प्रेम सिंह, महेंद्र सिंह लिपिक, अजमेर, सुरेश, मनजीत, धर्मेंद्र, प्रदीप वजीना, इंद्र कुमार, दिलबाग लंबा , रमेश बलौदा, सुरेंद्र चौहान, संदीप खेड़ा, रामनिवास यादव व कृष्ण आदि उपस्थित थे

Leave a Comment