एस. ड़ी. कॉलेज

एस. ड़ी. कॉलेज के गेट पर धरना देकर प्रत्यक्ष छात्र संघ ने जमकर किया विरोध प्रदर्शन

17 अक्टूबर को एस. ड़ी. कॉलेज में अप्रत्यक्ष रूप से चुनाव नहीं होने देंगे- प्रत्यक्ष छात्र संघर्ष समिति

पानीपत| बुधवार को एस. ड़ी. कॉलेज में अप्रत्यक्ष रूप से होने वाले चुनाव को लेकर प्रत्यक्ष छात्र संघ प्रत्यक्ष चुनाव की मांग कर रहे है। छात्र संगठन द्वारा लगातार कालेजों में प्रदर्शन किआ जा है। इसी कड़ी में इनसो , एनएसयूआई, एसएफआई, आएसा, एआइएसएफ, समेत सभी छात्र संगठनो ने सोमवार सुबह एसड़ी कालेज के गेट पर धरना देकर सरकार के खिलाफ नारेभाजी कर हंगामा किया।

छात्र नेता बलराज देशवाल, राजेंद्र जैलदार, आनन्द मलिक, आशु रानी ने भाजपा सरकार पर आरोप कई आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि सरकार अपनी छात्र इकाई को ऊपर उठाने के लिए अप्रत्यक्ष रूप से चुनाव करवा रही हैं। इस प्रकार के चुनाव प्रक्रिया से सरकार एबीवीपी को बाईपास से राजनीति में लाना चाहती हैं। जिसे कोई भी अन्य छात्र संघ बर्दाश्त नहीं करेगा।

उनका कहना है कि अगर आज सरकार प्रत्यक्ष रूप से छात्र संघ चुनाव करवाती है तो सरकार व एबीवीपी उसकी हैसियत का पता चल जाएगा। इसीलिये घबराकर सरकार अप्रत्यक्ष रूप से चुनाव करवा रही है। आज सरकार छात्र अधिकारों का शोषण कर रही हैं और एक आम गरीब परिवार के छात्र की आवाज को दबा रहीं है।

 पुलिस गोलियां भी चला ले लेकिन हम अपने अधिकारों को पाने के लिए पीछे नहीं हटेंगे

छात्र नेताओं ने कहा कि 12 अक्टूबर को जिस तानाशाही रवैया अपनाकर रोहतक-कुरुक्षेत्र व अन्य कई जगहों पर पुलिस को आगे लाकर छात्रों पर लाठीचार्ज किया गया हैं। उसकी हम निंदा करते हैं। इससे साफ पता चलता है कि सरकार धक्काशाही करके अपने संगठन को महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों में लाना चाहती है। छात्र नेताओं ने कहा कि चाहे कुछ भी हो लेकिन 17 अक्टूबर को हम अप्रत्यक्ष रूप से चुनाव नहीं होने देंगे। चाहे अबकी बार पुलिस गोलियां भी चला ले लेकिन सभी छात्र अपनी आवाज व अपने अधिकारों को पाने के लिए पीछे नहीं हटेंगे।

वही कालेज प्राचार्या अनुपम अरोड़ा छात्रों से बहार गेट पर मिलने पहुंचे आदेशा गुर्जर, हिमांशु वर्मा, दीपक कुराड़ , गोपाल जांगड़ा, अकिंत नौल्था, आशु , बलराम सिंह, अजीत, अनिल अहलावत, मनजीत सिंह, प्रवेश जाट आदि भी मौजूद थे।

Leave a Comment