प्रदर्शन 

स्कूल के गेट पर गंदगी व आवारा पशुओं के जमावडे को लेकर अध्यापक व छात्राओं ने किया प्रदर्शन 

कलायत : राजकीय कन्या प्राथमिक स्कूल के सामने लगे गंदगी के ढेर आवारा पशुओं से तंग आए प्राथमिक स्कूल के बच्चों व शिक्षकों ने प्रदर्शन किया। स्कूली बच्चों ने बाद में दुकानों पर जाकर मार्मिक निवेदन किया कि हम भी आपके बच्चे हैं, हमें स्वच्छता में रहने का अधिकार दो। छोटी छोटी स्कूली छात्राओं व अध्यापकों ने स्कूल के गेट पर लगातार आधा घंटा तक नारेबाजी की अपनी आवाज गंदगी फैलाने वालों तक पहुंचाई।
मास्टर जयदेव कौशिक का कहना था कि रेलवे रोड़ पर स्थित राजकीय कन्या प्राथमिक विद्यालय के गेट पर लोग गंदगी के ढेर लगा देते हैं जिसके कारण से स्कूली में आने का रास्ता ही नही बचता।
कई बार कचरे में ढेर में गिर कर छोटी छोटी बालिकाएं चोटिल हो चुकी हैं। कचरे में मुंह मारते आवारा पशु भी छात्राओं व अध्यापकों के लिए भारी सिरदर्दी बने हुए हैं। कचरे के ढेर व आवारा पशुओं के कारण से अध्यापकों में सदा इस बात का भय रहता है कि कहीं कोई बच्ची चोटिल न हो जाए। इसी कारण से दो अध्यापक बच्चियों के स्कूल आने तक गेट पर ही खड़े हो कर ड्यूटि देते हैं। उन्होंने कहा कि आसपास के दुकानदार ही स्कूल के मेनगेट के सामने गंदगी के ढेर लगाते हैं।
कचरा उठाने वाला वाहन स्कूल लगने के बाद आता है जिसके कारण से स्थिति प्रतिकूल बनी है। स्कूल के अध्यापक इस समस्या को लेकर आसपास के सब्जी व अन्य दुकानदारों से मिल कर आग्रह कर चुके हैं कि वे स्कूल के गेट के सामने कचरा न गिराएं पर कोई सुनवाई नही हो पाई। 

Leave a Comment