हनीप्रीत को फिर याद आया राम रहीम, जाना चाहती है गुरमीत राम रहीम की जेल में

चंडीगढ़ । डेरा सच्‍चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की गोद ली बेटी हनीप्रीत को फिर बाबा के करीब जाना चाहती है। राम रहीम की राजदार हनीप्रीत ने अंबाला सेंट्रल जेल से शिफ्टिंग की अर्जी दी है और रोहतक की सुनारिया जेल जाना चाहती है। गुरमीत सुनारिया जेल में ही बंद है। दूसरी ओर, साध्वियों के यौन शोषण में सजा काट रहे गुरमीत राम रहीम को अभी पेरोल मिलने के कोई आसार नहीं हैं। डेरामुखी की ओर से पेरोल मांगने संबंधी कोई अर्जी सरकार के पास नहीं पहुंची है।



हनीप्रीत ने दीअंबाला सेंट्रल जेल से किसी अन्‍य जेल में शिफ्ट करने की अर्जी

मंगलवार को चार साल की उपलब्धियां गिनाने के लिए पत्रकारों से रूबरू जेल मंत्री कृष्णलाल पंवार ने इस बात की पु्ष्टि की कि हनीप्रीत ने अंबाला सेंट्रल जेल से किसी अन्‍य जेल में शिफ्ट करने की अर्जी दी है। लेकिन, उन्‍हाेंने इस बात का खुलासा नहीं किया कि वह किस जेल में शिफ्ट होना चाहती है।

 

दूसरी आेर सूत्रों का कहना है कि हनीप्रीत ने अर्जी में सुनारिया जेल का विकल्प दिया है। इस जेल में गुरमीत राम रहीम को रखा गया है। इससे पहले गुरमीत ने भी हनीप्रीत को सुनारिया जेल में लाने की मांग की थी, जिसे खारिज कर दिया गया था। जेल मंत्री पंवार ने कहा कि हनीप्रीत के आवेदन की आइजी स्तर के अधिकारी से जांच कराई जाएगी। यदि जेल ट्रांसफर करने का आधार सही मिला तो अदालत के जरिये इस प्रक्रिया को पूरा किया जाएगा।

 

गुरमीत राम रहीम को पेरोल दिए जाने के सवाल पर कृष्‍णलाल पंवार ने कहा कि इस संबंध में कोई अर्जी रिकॉर्ड में नहीं आई है। यदि वह आवेदन करता है तो उसकी पुलिस वेरीफिकेशन कराई जाएगी और उसी के आधार पर अगला कदम उठाया जाएगा। पंवार ने कहा कि जेल में गुरमीत राम रहीम का व्यवहार संतोषजनक है और वह आम कैदियों की तरह सजा काट रहा है। उसके गलत आचरण की कोई शिकायत जेल प्रशासन को नहीं मिली है।

Leave a Comment