मोहम्मद शमी

मोहम्मद शमी की बढ़ी मुश्किलें, अदालत में नहीं हुए पेश ताे जारी हो सकता है गिरफ्तारी वारंट

भारत के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को यहां की एक अदालत ने बुधवार को निर्देश दिया कि वह 15 जनवरी को उसके समक्ष पेश हो। शमी की पत्नी ने चैक बाउंस होने पर इस तेज गेंदबाज के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है जिस मामले में अदालत ने उन्हें पेश होने को कहा। शमी और उनकी पत्नी के बीच निकाह को लेकर विवाद चल रहा है।

शमी निजी तौर पर उपस्थित नहीं होते हैं तो उनके खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी किया जा सकता

लीपुर के न्यायिक मजिस्ट्रेट मोहम्मद जफर परवेज ने कहा कि अगर शमी निजी तौर पर उपस्थित नहीं होते हैं तो उनके खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी किया जा सकता है। शमी की पत्नी हसीन जहां ने लिखित पारक्रम्य कानून के अंतर्गत मामला दर्ज कराया था, क्योंकि कथित तौर पर इस व्रिकेटर ने उनके चैक का भुगतान रोक दिया था जो दोनों के बीच विवाह को लेकर विवाद के बाद मासिक खर्चे के लिए दिया गया था।


अदालत court


 

वकील एसके सलीम हरमान ने न्यायाशी परवेज के समक्ष अपील की थी कि शमी को वकील के जरिए पेश होने की स्वीकृति दी जाए

न्यायिक मजिस्ट्रेट ने बुधवार को अदालत के समक्ष पेश होने का निर्देश दिया था क्योंकि अक्टूबर में भी सुनवाई लिए नहीं पहुंचे थे। यह क्रिकेटर हालांकि बुधवार को भी सुनवाई के लिए नहीं पहुंचा। शमी के वकील एसके सलीम हरमान ने न्यायाशी परवेज के समक्ष अपील की थी कि शमी को वकील के जरिए पेश होने की स्वीकृति दी जाए। न्यायाधीश ने हालांकि कहा कि कानून सभी के लिए बराबर है और शमी को निजी तौर पर 15 जूनवरी 2019 को पेश होने का निर्देश दिया।

Leave a Comment