एंजल प्राइम मॉल angel prime mall

एंजल प्राइम मॉल की अवैध वेंकट हॉल और दुकानों पर उच्च न्यायालय ने संज्ञान लेते हुए 15 नवंबर को उच्च अधिकारियों को किया तलब

अवैध वेंकट हाल और दुकानों को लेकर जोगेंद्र स्वामी ने हाई कोर्ट में डाली याचिका 

पानीपत-एंजल प्राइम मॉल की अवैध वेंकट हॉल और दुकानों पर उच्च न्यायालय ने संज्ञान लेते हुए 15 नवंबर को उच्च अधिकारियों को किया तलब। सेक्टर 11 में स्थित  एंजल प्राइम मॉल के अंदर अवैध तरीके से बने वेंकट हाल और दुकानों को लेकर जन आवाज सोसायटी के प्रधान जोगेंद्र स्वामी  द्वारा पिछले साल से लगातार इस अवैध  बैंकट हाल को बंद कराने की मांग को लेकर सभी बड़े अधिकारियों को ज्ञापन देकर  लोगों के जीवन को खतरा बने नवकार  वेंकट हाल को  सील कराने की मांग की जाती रही है। और इस मामले में उपायुक्त चंद्रशेखर खरे द्वारा सिटी मजिस्ट्रेट से जांच करवाई गई।
उन्होंने अपनी जांच में स्पष्ट रुप से लिखा था कि इस बैंकट हाल की किसी प्रकार की कोई एनओसी नहीं ली गई।  यहां पर लोगों के जीवन को खतरा है। जिस पर तत्कालीन उपायुक्त  द्वारा हुडा विभाग को 18 अक्टूबर 2017 को पत्र लिखकर  इस अवैध चल रहे वेंकट हाल को सील करने के  आदेश दिए थे। जिस पर  हुडा विभाग द्वारा 23 नवंबर को उपायुक्त पानीपत से सील करने की कार्रवाई करते हुए फोर्स की मांग की थी। लेकिन तत्कालीन उपायुक्त द्वारा  मॉल  मालिक से मिलीभगत करके दोबारा 22 नवंबर को इंक्वायरी की बात करके मामले को डस्टबिन  में डाल दिया।

 अधिकारियों की मिलीभगत के चलते सभी नियमों को ताक पर

याचिकाकर्ता जोगिंदर स्वामी प्रधान जन आवाज सोसायटी एवं पूर्व जिला पार्षद ने बताया कि इस वेंकट हाल में हुड्डा विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत के चलते सभी नियमों को ताक पर रखा गया। क्योंकि जिस जगह पर बैंकट हाल है उसको केवल 451 स्क्वेयर मीटर ही कवर किया जा सकता है लेकिन हुडा विभाग के भ्रष्ट अधिकारियों की मिलीभगत के चलते लोअर ग्राउंड फ्लोर को पूरी तरीके से  लगभग 3000 स्क्वायर मीटर कवर करके बेसमेंट बना दी गई। जो कि पूरी तरह से अवैध है।
जिसको केवल हुड्डा पॉलिसी के तहत तोड़ना ही बनता है। स्वामी ने बताया कि इस हाल के चलते पूरा सेक्टर 11- 12 मैं जाम लगा रहता है। जिससे वहां के आम नागरिक बहुत दुखी है। क्योंकि इस बैंकटहाल के लिए कोई भी पार्किंग की अलग से व्यवस्था नहीं है, और इस वेंकट हाल में केवल एक ही दरवाजा है। अगर यहां कोई हादसा होता है तो हजारों लोगों का जीवन दांव पर लग सकता है। उन्होंने कहा कि जिन -जिन विभागों द्वारा इसकी एन ओ सी दी गई है। उसकी भी जांच करवा कर  इस षड्यंत्र में शरीक  भ्रष्ट अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग करेंगे।

अधिकतर दुकाने हुड्डा विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से अवैध रूप से बनाई गई है

उन्होंने बताया कि वेंकट हॉल के साथ साथ इस मॉल में बनी अधिकतर दुकाने हुड्डा विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से अवैध रूप से बनाई गई है जिससे इस बैंकट हाल में लगभग 14-15 करोड रुपए का घोटाला किया गया है उन्होंने कहा कि इस मामले मैं मुख्य सचिव, प्रशासक हुड्डा रोहतक ,स्टेट ऑफिसर हुड्डा पानीपत ,कार्यकारी अभियंता हुडा पानीपत ,उपायुक्त पानीपत को 15 नवंबर को हाई कोर्ट में तलब किया है।

Leave a Comment