यौन उत्पीड़न मंजू वर्मा

आश्रय गृह में यौन उत्पीड़न मामले के सिलसिले में अदालत ने पूर्व कल्याण मंत्री मंजू वर्मा को एक दिन के पुलिस हिरासत में भेज दिया

बिहार में मुजफ्फरनगर आश्रय गृह में यौन उत्पीड़न मामले के सिलसिले में यहां की एक अदालत ने बिहार की पूर्व सामाजिक कल्याण मंत्री मंजू वर्मा को एक दिन के पुलिस हिरासत में भेज दिया. मंझौल अनुमंडल के अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रभात त्रिवेदी ने जिला पुलिस के एक आवेदन पर आदेश पारित किया. पुलिस ने पूर्व मंत्री को दो दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेजने की मांग की थी.


मुजफ्फरपुर आश्रय गृह मामले की जांच के क्रम में हथियार कानून तहत दर्ज एक मामले में मंजू वर्मा गिरफ्तारी से बच रही थी. उन्होंने मंगलवार को एक स्थानीय अदालत में समर्पण किया था. आश्रय गृह कांड में परिसरों पर छापेमारी के दौरान सीबीआई की एक टीम ने पूर्व मंत्री के आवास में भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद किया था. इसके बाद अगस्त में चेरिया बेरियारपुर थाना में दर्ज एक प्राथमिकी में मंजू और उनके पति चंद्रशेखर वर्मा का नाम शामिल किया गया था.


आश्रय गृह कांड के मुख्य आरोपी बृजेश ठाकुर के साथ पूर्व मंत्री के पति के करीबी संबंधों के आरोपों के बाद मंजू के आवास पर छापामारी की गयी और इसके बाद उन्होंने पद से इस्तीफा दे दिया था. गिरफ्तारी से कई सप्ताह तक बचने के बाद मंजू वर्मा ने मंझौल अदालत में मंगलवार आत्मसमर्पण कर दिया था.


 

Leave a Comment