गुरूपर्व

गुरूपर्व के 550वें प्रकाशपर्व पर प्रभातफेरी व लंगर का आयोजन

रिफाइनरी रोड़ स्थित शिव दीप विद्या मंदिर में गुरूपर्व के 550वें प्रकाशपर्व पर प्रभातफेरी व लंगर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्यअतिथि बसपा नेता व ददलाना के पूर्व सरपंच नरेंद्र राणा ने शिरकत की और गुरूनानक देव जी के जीवन से प्रेरणा लेने का आह्वान किया।


ददलाना के शिव दीप विद्या मंदिर में गुरूपर्व के उपलक्ष्य में आयोजित प्रभातफेरी व लंगर में शिरकत करते हुए मुख्यअतिथि बसपा नेता नरेंद्र राणा ने कहा कि सिख धर्म के संस्थापक व प्रथम गुरु नानक देव जी के जन्म के उपलक्ष्य में गुरु पर्व मनाया जाता है। गुरु नानक देव जन्म से ही ज्ञानशील थे होने के कारण जनता की सेवा कर सदाचार अपनाने के लिए प्रेरित किया। साथ ही अंधविश्वास, कुरीतियों और मूर्ति पूजन का विरोध कर एकेश्वर का संदेश दिया।


गुरु नानक देव जी के जन्मोत्सव की खुशी में गुरु पर्व मनाया जाता


उन्होंने कहा कि गुरु नानक जी का जन्म 15 अप्रैल, 1469 को तलवंडी में हुआ, जिसे अब ननकाना साहिब नाम से जाना जाता है। गुरु पर्व कार्तिक पूर्णिमा को मनाया जाता हैं। गुरु नानक देव जी के जन्मोत्सव की खुशी में गुरु पर्व मनाया जाता है। इसे गुरु नानक जयंती या गुरु नानक प्रकाशोत्सव के नाम से भी जाना जाता है।
उन्होंने बच्चों से आह्वान किया कि वे गुरू नानक देव जी की शिक्षाओं का अनुसरण करें। इस मौके पर खुशीराम, भगवान दास, सतबीर शर्मा, ऋषिपाल, बृजपाल राणा व अन्य मौजूद रहे।


Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *