योगेन्द्र यादव

योगेन्द्र यादव ने किसान मुक्ति यात्रा हेतु गांव-गांव जाकर निमंत्रण दिया

कहा- 29 को दिल्ली का किसान आंदोलन ऐतिहासिक होगा


रेवाड़ी।  स्वराज इंडिया पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेन्द्र यादव शुक्रवार को गांवों का दौरा करते हुए रेवाड़ी पहुंचे और किसानों को 29-30 नवंबर को दिल्ली में आयोजित किसान मुक्ति यात्रा में शामिल होने का निमंत्रण दिया। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि पूरे देश के किसानों पर कुल 14 लाख करोड़ रुपया बकाया है।


जबकि स्वामीनाथन आयोग की सिफारिश को लागू कर दिया गया होता तो किसानों का 20 लाख करोड़ का सरकार पर बकाया होता। सरकार का कर्ज उस पर नहीं, बल्कि उसका सरकार पर बकाया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के रामलीला मैदान में 29-30 का किसान आंदोलन ऐतिहासिक साबित होने वाला है। वे चाहते हैं कि आंदोलनों में अगुवा रहने वाला हरियाणा का किसान देश और राज्य की सबसे किसान विरोधी सरकार को झकझोर कर रख दे।


2019 में दो ही मुद्दे – किसान और नौजवान का या फिर हिन्दू और मुसलमान


उन्होंने कहा कि इस देश में 2019 में दो ही मुद्दे हो सकते हैं। एक तो किसान और नौजवान का या फिर हिन्दू और मुसलमान का। ऐसे में किसान और जवान की भूमिका इस चुनाव में निर्णायक होने वाली है। उन्होंने राफेल घोटाले को बोफॉर्स से बड़ा घोटाला बताया। उन्होंने कहा कि अभी तक किसान बंटे हुए थे। जिसके कारण उनकी मांगों पर सुनवाई नहीं होती थी। पहली बार राष्ट्रीय स्तर पर 200 से अधिक किसान संगठन एक मंच पर एकत्रित हुए हैं।


उन्होंने मांग की कि संसद का विशेष अधिवेशन बुलाकर किसानों की मांगों को पूरा किया जाए। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी हरियाणा में लोकसभा चुनाव लड़ने की बजाय विधानसभा चुनाव लड़ेगी। इस मौके पर पार्टी के प्रदेश महासचिव दीपक लांबा, रमन, राजबाला यादव, एडवोकेट कुसुम यादव, लक्ष्मण सिंह जांगिड़, जगमाल सिंह, धर्म सिंह, धर्मपाल सिंह, रामअवतार, अभय सिंह आदि उपस्थित थे।


Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *