केंद्र की महत्वाकांक्षी योजनाओं को लागू कर हरियाणा सरकार ने प्रदेश को देश का अग्रणी राज्य बनाया : राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य

दुनिया की किसी भी फैक्ट्री में रक्त का उत्पादन नही होता:सत्यनारायण आर्य

हरियाणा के महामहिमदेव  राज्यपाल सत्यनारायण आर्य ने कहा है कि दुनिया की किसी भी फैक्ट्री में रक्त का उत्पादन नही होता और ना ही रक्त का कोई दुसरा विकल्प है। यह केवल रक्तदाताओं द्वारा स्वेच्छा से किए गए रक्तदान के माध्यम से ही जरूरतमंदों को उपलब्ध हो पाता है। श्री राम नाथ एजुकेशनल एवं वेलफेयर सोसाईटी द्वारा स्थानीय राम भवन में भारतीय सेना के वीर सपूतों को समर्पित रक्तदान शिविर के उद्घाटन अवसर पर उन्होंने यह बात कही। सशस्त्र सेना आधान केंद्र, दिल्ली छावनी द्वारा रैडक्रॉस के सहयोग से आयोजित रक्तदान शिविर में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष एवं टोहाना के विधायक सुभाष बराला ने रक्तदान कर अपना जन्मदिन मनाया। इस अवसर पर राज्यसभा सासंद एवं रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल डॉ डीपी वत्स, उपायुक्त डॉ जेके आभीर, पुलिस अधीक्षक दीपक सहारण व राज्यपाल के सुपुत्र कौशल किशोर सहित अनेक गणमान्य हस्तियां व अधिकारीगण उपस्थित थे। शिविर में रक्तदान के लिए दोपहर तक लगभग 1100 युवाओं ने अपना पंजीकरण करवाया था और इसके बाद भी पंजीकरण कर रक्तदान करने वालों का सिलसिला निरंतर जारी था।

रक्तदान के लिए उमड़े युवाओं ने बढ़ाया टोहाना का मान

इस अवसर पर अपने संबोधन में महामहिम राज्यपाल ने रक्तदान को महादान की संज्ञा देते हुए कहा कि जो अन्न देता है, उसे अन्नदाता कहते है। जो धन देता है, उसे धनदाता कहते है। जो विद्या देता है, उसे विद्यादाता कहते है परन्तु जो रक्त देता है, उसे जीवनदाता कहते है। उन्होंने कहा कि भारत का इतिहास दानी वीरों से भरा पड़ा है। महर्षि दधीचि ने मानव कल्याण के लिए अपनी अस्थियों तक का दान कर दिया था। रक्तदान करने से शरीर में किसी प्रकार की कोई भी कमजोरी नही होती, अपितु मनुष्य का शरीर स्वस्थ रहता है। राज्यपाल ने कहा कि विज्ञान ने हर क्षेत्र में उन्नति की है, परन्तु आज भी रक्त का निर्माण किसी प्रयोगशाला में नही हो सकता। राज्यपाल ने विशाल रक्तदान शिविर के आयोजन के लिए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला को बधाई दी और कहा कि रक्त का निर्माण मनुष्य के शरीर में ही होता है, इसलिए हमे बढ़-चढ़ कर रक्त दान करना चाहिए ताकि जरूरतमंदों का जीवन बचाया जा सके। भारत के प्रधानमंत्री ने भी स्वस्थ भारत की कल्पना की है। उन्होने कहा है कि इस कार्यक्रम में हमारी बेटियां भी बड़ी संख्या में उपस्थित हैं। यह देख कर मुझे काफी खुशी हो रही है।
उन्होंने युवाओं को माता-पिता, गुरूजनों, मातृभाषा एवं मातृभूमि का आदर करना करने का आह्वान करते हुए कहा कि हमारे शास्त्रों में गुरू को भगवान से भी ऊपर स्थान दिया गया है। प्रदेश सरकार की कार्यशैली की सराहना करते हुए राज्यपाल ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजनाओं को युद्ध स्तर पर लागू किया है, इसलिए हरियाणा हर क्षेत्र में नंबर एक पर है। उन्होंने कहा कि हमेंं संविधान निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर द्वारा शिक्षित बनो व संगठित रहो की बात का अनुसरण करना चाहिए। उन्होंने कहा कि अन्याय के विरूद्घ संघर्ष करना चाहिए। राष्ट के सर्वागिण विकास के लिए सभी को आगे आना चाहिए। व्यक्ति को चरित्र पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *