राहुल का मोदी पर हमला, कहा- जल्द से जल्द करेंगे इस सरकार का सफाया

मोहाली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर बीजेपी सरकार पर हमला बोला है| राहुल गांधी ने कहा कि आने वाले दिनों में हम मोदी सरकार का सफाया करने जा रहे हैं| बतादे कि पंजाब के मोहाली में आयोजित एक कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष ने यह बात कही| वहीँ आगे  कांग्रेस अध्यक्ष ने मोदी के साथ राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर भी निशाना साधते हुये कहा कि ये दोनों यह समझते हैं जो उनके दिल और दिमाग में है वह सही है।


देश में आक्रोश के पनपने की यह एक मुख्य वजह है। उन्होंने दावा किया कि देश में सभी संवैधानिक संस्थाओं पर आक्रमण हो रहा है उच्चतम न्यायालय के जज को काम नहीं करने देने, सेना के जनरल सेना का राजनीतिक इस्तेमाल करने और निर्वाचन आयोग उस पर दबाव डाले जाने का आरोप लगा रहे हैं। यहां तक कि मंत्री और नेता भी इससे अछूते नहीं है उन्हें भी धमकाया जाता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस समेत विपक्षी दल देश की इन संस्थाओं पर इस आक्रमण के खिलाफ मजबूती से खड़े हैं।


राहुल गांधी ने कहा कि देशभर में प्रत्येक मीडिया संस्थानों पर भी बीजेपी द्वारा हमला किया जा रहा है| उन्होने कहा कि आज की प्रैस की यह स्थिति है, कि अखबारों के फ्रंट पृष्ठ से रोजगार, किसान, भ्रष्टाचार समेत देश और समाज की ज्वलंत समस्याएं गायब हैं। देश में मीडिया को डराया और उसकी आवाज को दबाया जा रहा है। अखबारों में अब वही लिखा रहा है जो सरकार सुनना चाहती है।


लेकिन कांग्रेस इस आक्रमण के खिलाफ हमेशा उनके साथ खड़ी है और हम 2019 में इसको रोकेंगे| उन्होंने प्रैस की आजादी पर बोलते हुए कहा कि ऐसे समय में हमें ‘नवजीवन‘ जैसे अखबारों की जरूरत है। उन्होंने पत्रकारों से देश की ज्वलंत समस्याओं पर स्वतंत्र और निर्भीक पत्रकारिता करने की भी अपील की। राहुल गांघी ने कहा, मीडिया के लोगों को निडर होकर सच को सामने रखना चाहिए| चाहे वो कांग्रेस के बारे में ही क्यों न हो|


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कहा कि राेजगार और किसानों के जुड़े मुद्दों को मोदी सरकार द्वारा तरजीह न दिये जाने से देश में उसके प्रति आक्रोश पनप रहा है तथा पार्टी जनता के सहयोग से न केवल उसे विधानसभा चुनावों में पराजित करेगी बल्कि उसे 2019 के चुनावों में केंद्र से भी उखाड़ फैंकेगी। उन्होंने कहा कि सरकार यह मानती है कि मेक इन इंडिया से काम चल जाएगा।


लेकिन वह कहना चाहते हैं कि चाहे 21वीं या 22 वीं सदी हो किसान के हितों के संरक्षण और खाद्य सुरक्षा के बिना देश आगे नहीं बढ़ सकता। उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस वर्ष 2019 के आम चुनावों के बाद सत्ता में आने पर 21वीं सदी के मद्देनज़र रोजगार और किसानों की समस्याओं को हल करने के लिये एक रणनीति बना कर काम करेगी।


 

Leave a Comment