मृत सफाईकर्मी के परिवार से केजरीवाल व शीला दीक्षित ने मुलाकात की

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित ने वजीराबाद इलाके में नाले की सफाई के दौरान दम घुटने से मरने वाले एक सफाईकर्मी के परिवार से बुधवार को मुलाकात की। केजरीवाल ने मृतक के परिवार को नौकरी और 10 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की।

केजरीवाल की इस मुलाकात से एक दिन पहले ही दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित ने कहा था कि वह मृत सफाईकर्मी किशन के परिवार से मुलाकात करेंगी। उन्होंने शाम में परिवार से मुलाकात की और घटना की जांच की मांग की।

केजरीवाल ने गांधी विहार इलाके में परिवार से मिलने के बाद कहा, ‘‘यह अत्यंत दु:खद घटना है। हम 10 लाख रुपए मुआवजा और मृत सफाईकर्मी के परिवार के एक सदस्य को नौकरी देंगे।’

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने नालों और सीवर की सफाई के लिए बहुत कड़े नियम बनाए हैं, लेकिन कई बार कुछ ठेकेदार और इंजीनियर नियम का उल्लंघन करते हैं और उचित सुरक्षा किट के बिना ही श्रमिकों से नाले या सीवर के अंदर जाने को कहते हैं।

केजरीवाल ने कहा, ‘‘प्रथम दृष्टया यह ऐसा ही मामला लगता है। हम इसमें शामिल ठेकेदार और इंजीनियर के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे।’’

शीला दीक्षित के साथ पार्टी की प्रदेश इकाई के नेता भी थे। किशन के परिवार से मिलने के बाद उन्होंने कहा कि यह काफी दुखद है कि न तो मुख्यमंत्री और न ही दिल्ली सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों ने दो दिनों तक परिवार से मुलाकात की। उन्होंने पीड़ित के परिवार से ‘‘जल्दबाजी’’ में मिलने के लिए मुख्यमंत्री की आलोचना की। इस मामले को लेकर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने दिल्ली सरकार को नोटिस भेजा है।

इसमें कहा गया है कि श्रमिक को चेहरे पर मास्क, श्वास संबंधी उपकरण, वर्दी और अन्य सुरक्षा उपकरण कथित रूप से ‘‘नहीं दिए गए’’ थे।
उल्लेखनीय है कि उत्तरी दिल्ली के वजीराबाद इलाके में रविवार को एक भूमिगत नाले की सफाई के दौरान उसमें फंस जाने से अनुबंध पर काम कर रहे 37 वर्षीय सफाई कर्मचारी किशन की मौत हो गई थी।

Leave a Comment