CBI निदेशक के चयन के लिए 31 जनवरी से पहले बुलाई जाए समिति की बैठक : खड़गे

नई दिल्ली : सीबीआई के अगले निदेशक के चयन के लिए बृहस्पतिवार को हुई उच्चाधिकार प्राप्त समिति की बैठक बेनतीजा रहने के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने शुक्रवार को कहा कि कहा कि नियुक्ति में विलंब सरकार की गलती से हो रहा है तथा अब समिति की बैठक 31 जनवरी से पहले बुलाई जानी चाहिए। समिति में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रधान न्यायाधीश न्यामूर्ति रंजन गोगोई के साथ ही खड़गे भी सदस्य हैं।

खड़गे ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमने प्रधानमंत्री से कहा है कि बैठक को जितना जल्दी हो सके बुलाया जाना चाहिए। यदि बैठक इसी तरह स्थगित होती रहेगी तो जिस व्यक्ति को सीबीआई का अंतरिम निदेशक (नागेश्वर राव) नियुक्त किया गया है वह पद पर बना रहेगा। यह व्यक्ति इस पद के योग्य नहीं है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘पहली गलती जो व्यक्ति योग्य नहीं है उसे नियुक्त करने की है और दूसरी गलती यह कि बिना ब्यौरा दिए उन्होंने बैठक बुला ली।

बैठक में हो रही यह देरी सरकार की गलती है। इस बैठक को 31 जनवरी से पहले बुलाया जाना चाहिए।’’ गौरतलब है कि अगले सीबीआई प्रमुख के नाम पर फैसला करने के लिए बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली समिति की गुरुवार को बैठक हुई जो बेनतीजा रही। बैठक में प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई और खड़गे ने भी हिस्सा लिया। समिति ने 10 जनवरी को वर्मा को सीबीआई निदेशक के पद से हटा दिया था। आलोक वर्मा को इस पद से हटाए जाने के बाद से सीबीआई निदेशक का पद खाली है। आईपीएस अधिकारी एम. नागेश्वर राव को सीबीआई का अंतरिम निदेश बनाया गया था।

Leave a Comment