राहुल गांधी ने देश भर से आए छोटे एवं मझोले कारोबारियों से लंच पर मुलाकात की

नई दिल्ली : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को देश भर से आए छोटे एवं मझोले कारोबारियों से लंच पर मुलाकात की जिस दौरान जीएसटी तथा कई अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई। ‘अपनी बात राहुल के साथ’ कार्यक्रम के तहत गांधी समाज के विभिन्न वर्गों से मिल रहे हैं। इसी के तहत उन्होंने आंध्र भवन में छोटे एवं मझोले कारोबारियों से मुलाकात की।

सूत्रों के मुताबिक व्यापारियों ने जीएसटी से जुड़ी परेशानियों तथा कुछ दूसरी दिक्कतों से अवगत कराया। इस पर गांधी ने विश्वास दिलाया कि जहां भी कांग्रेस की सरकारें हैं वहां कारोबारियों को पूरी सहूलियत दी जाएगी। इससे पहले राहुल गांधी ने देश के विभिन्न हिस्सों से आये छात्रों से डिनर पर मुलाकात की थी।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा एक मार्च को महाराष्ट्र में धुले से पार्टी का लोकसभा चुनाव प्रचार अभियान शुरु किए जाने की उम्मीद है। यह जानकारी पार्टी सूत्रों ने सोमवार को दी। सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस इसके साथ ही नवनियुक्त पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की अगले महीने राज्य में एक रैली की योजना बना रही है।

इससे पहले कांग्रेस और राकांपा की दो संयुक्त जनसभाएं 20 फरवरी और 23 फरवरी को क्रमश: नांदेड और बीड़ में होंगी। संयुक्त रैलियों में राकांपा प्रमुख शरद पवार और महाराष्ट्र के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रभारी मल्लिकार्जुन खड़गे के साथ ही दोनों पार्टियों और उनके सहयोगी दलों के अन्य नेता भी शामिल होंगे। लोकसभा चुनाव के अप्रैल-मई में होने की उम्मीद है और इसके कार्यक्रम की घोषणा अभी होनी है।

एक सूत्र ने कहा, “राहुल जी पार्टी के प्रचार के लिए धुले में होंगे। यह चुनावी मौसम में उनकी पहली रैली होगी।” उन्होंने कहा कि रैली का आयोजन धुले में हो रहा है क्योंकि इससे जिले और पड़ोसी जलगांव और नंदुरबर से पार्टी कार्यकर्ताओं को उसमें शामिल होने में सुविधा होगी। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र से कांग्रेस नेताओं ने पार्टी अध्यक्ष से राज्य में चार से पांच रैलियों को संबोधित करने का अनुरोध किया है।

राहुल गांधी की रैली के बारे में पूछे जाने पर महाराष्ट्र कांग्रेस प्रमुख अशोक चव्हाण ने कहा, “हम प्रक्रिया में हैं। हम धुले में एक रैली की योजना बना रहे हैं, लेकिन इसे अभी आधिकारिक रूप से अंतिम रूप दिया जाना बाकी है।” कांग्रेस अन्य समान विचार वाले दलों के साथ हाथ मिलाकर सत्ता में वापसी के प्रयास में है।

2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को भाजपा से हार का सामना करना पड़ा था। पिछले लोकसभा चुनाव में पार्टी महाराष्ट्र में केवल दो लोकसभा सीटें जीत पायी थी नांदेड (जिसका प्रतिनिधित्व चव्हाण करते हैं) और हिंगोली (राजीव सातव)। महाराष्ट्र में लोकसभा की 48 सीटें हैं। सीटों के हिसाब महाराष्ट्र उत्तर प्रदेश (80) के बाद दूसरा सबसे बड़ा राज्य है।

Leave a Comment