गावस्कर बोले- खेलो और हराओ,16 जून को इंडिया और पाकिस्तान का वर्ल्ड कप में पहला मुकाबला

क्रिकेट की दुनिया में ये माहौल बन रहा है कि पाकिस्तान को 2019 के वर्ल्ड कप में बैन किया जाए. इंडिया की तरफ से ये बात आईसीसी तक पहुंचाई जा रही है. 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान से क्रिकेट रिश्ते भी तोड़ने की बात कही जा रही है. इसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए हैं. पाकिस्तान को चौतरफा खेलने की कोशिश हो रही है ताकि वो आतंकियों को शह देना बंद करे.

ऐसे में जहां हरभजन सिंह समेत कई पूर्व क्रिकेटर ये कह चुके हैं कि पाकिस्तान के खिलाफ वर्ल्ड कप में नहीं खेलना चाहिए, इधर पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने कहा है, “पाकिस्तान के खिलाफ वर्ल्ड कप में न खेलने से कुछ नहीं होगा. उल्टा नुकसान इंडिया का होगा. 16 जून को इंडिया और पाकिस्तान का वर्ल्ड कप में पहला मुकाबला है. इंडिया को ये मैच खेलना चाहिए और पाकिस्तान को हराना चाहिए ताकि हमारे दो पॉइंट न बर्बाद हों. हम क्यों ही पाकिस्तान को दो पॉइंट की बढ़त दें. अगर पाकिस्तान इसका फायदा लेकर वर्ल्ड कप में आगे बढ़ गया तो नुकसान किसका होगा.”

इंडिया टुडे से बात करते हुए गावस्कर ने कहा कि भारत की कोशिश है कि पाकिस्तान के साथ मैच न खेला जाए. मगर ऐसा हो नहीं पाएगा. ये तभी हो सकता है जब आईसीसी के दूसरे सदस्य देश इस पर राजी हों जिसकी उम्मीद बहुत कम है. पुलवामा मामले में पाकिस्तान को घेरने का सबसे सही रास्ता यूनाइटेड नेशन्स है और मुझे लगता है कि आईसीसी के जरिए कुछ भी नहीं हो सकता है. क्रिकेट खेलने वाले दूसरे देश ये कहकर बचेंगे कि ये इंडिया पाकिस्तान का आपसी मामला है इसलिए हमें इससे दूर रहने दें. मैं भी इस हमले से आहत हूं और देश की सरकार जो तय करेगी उसका समर्थन भी करता हूं. आखिरकार वही मान्य होगा जो देश तय करेगा. मगर ये भी साफ है कि पाकिस्तान के खिलाफ न खेलने से हमें बहुत नुकसान होगा क्योंकि ये वर्ल्ड कप है और हम इसमें कोई चांस नहीं ले सकते हैं.”

सुनील गावस्कर ने जो भी कहा उसमें वजन है. देश के लोग क्रिकेट के मैदान पर पाकिस्तान को इंडिया के हाथों हारता देखना चाहते हैं. इसलिए सालों तक इंतजार करते हैं. वर्ल्ड कप को यूं जाने देने से इंडिया को कोई फायदा नहीं होगा. एक बात ये भी है कि इंडिया लीग मैच में पाकिस्तान के खिलाफ मैच खेलने से मना कर सकती है मगर तब क्या होगा अगर पाकिस्तान और इंडिया सेमीफाइनल या फिर फाइनल में आमने सामने हो गए. इसलिए जरूरी है कि इंडिया पाकिस्तान को मुकाबला मैदान पर भी करे और हराए.

Leave a Comment