एसडीएम डा. पूजा भारती ने किया ध्वजारोहण, परेड की ली सलामी, कोरोना योद्धाओं को किया सम्मानित।

घरौंडा 15 अगस्त, स्थानीय अनाज मंडी में 74वां स्वतंत्रता दिवस समारोह बड़ी धूम-धाम के साथ मनाया गया। इस मौके पर घरौंडा की एसडीएम डा. पूजा भारती ने ध्वजारोहण किया तथा परेड की सलामी ली। इस मौके पर 20 कोरोना योद्धाओं को सम्मानित किया गया।

इस मौके पर एसडीएम ने कहा कि आजादी के इस पावन दिवस के साथ इतिहास के एक लम्बे दौर की गौरव गाथा जुड़ी हुई है। आज ही के दिन 15 अगस्त 1947 को हमने आजादी प्राप्त की थी। यह आजादी हमें सहजता से नही मिली है, इसको प्राप्त करने के लिए हमारे देश के असंख्य वीर-जवानों, रणबाकुरों, स्वतन्त्रता सैनानियों एवं देश भक्तों ने एक बड़ी कीमत चुकानी पड़ी थी। यह एक ऐसा आजादी का युग था, जो दुनिया के इतिहास में पहली बार त्याग,बलिदान और अंहिसा के बल पर लड़ा गया। एक तरफ राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के नेतृत्व में अंहिसा के रास्ते पर चलते हुए आजादी की लडाई लडी गई, दूसरी ओर सरदार भगत सिहं, सुखदेव,राजगुरू जैसे अनेक क्रांतिकारियों ने हंसतें-हंसते फांसी का फंदा चूमकर अपने प्राणों का बलिदान दिया। आजाद हिन्द फौज के निर्माता सुभाष चन्द्र बोस का यह नारा ‘तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हे आजादी दूंगा’ से प्रभावित होकर अनेक देशभक्त अपना सब कुछ त्याग कर आजादी के आन्दोलन में कूद पड़े और देश के लिए शहीद हो गए ।

उन्होंने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा विकासात्मक परियोजनाओं एवं जन कल्याणकारी योजनाओं के साथ-साथ देश के सैनिकों, सुरक्षा कर्मियों और उनके आश्रितों के कल्याण के लिए अनेक योजनाएं लागू की गई हैं, इसके अलावा सरकार ने महिला सशक्तिकरण की दिशा में भी कारगर कदम उठाएं है, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत मुफ्त में गैस सिलेंडर वितरित करके महिलाओं को  प्रदुषण मुक्त जीवन व्यतीत करने का अवसर प्रदान किया है। प्रगति के इस दौर में हरियाणा प्रदेश ने भी चंहुमुखी उन्नति की है। आज हरियाणा विकास के मामले में अन्य प्रदेशों की अपेक्षा काफी आगे है। विकास की इस श्रृंखला में घरौंडा क्षेत्र भी निरंतर आगे बढ़ रहा है।
एसडीएम ने कहा कि सरकार द्वारा स्वच्छ भारत अभियान, बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ तथा जल बचाओ अभियान को आरम्भ करके सामाजिक सरोकार के क्षेत्र में महत्वपूर्ण कार्य किया है। सरकार के ऐतिहासिक निर्णयों से लोगों में एक जागृति आई है। लोग स्वच्छता के महत्व को समझ गए है। मुझे बताते हुए खुशी हो रही है कि घरौंडा खंड के गांव शत-प्रतिशत खुले में शौच से मुक्त हो गए हैं और शहरी क्षेत्र भी लगभग खुले में शौच से मुक्त हो गया है। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि भारत को स्वच्छ रखने तथा घटते लिंगानुपात में समानता लाने व कन्या भ्रूण हत्या जैसी अन्य सामाजिक बुराई को रोकने के लिए हर नागरिक अपना भरपूर सहयोग दें।

Leave a Comment