पानीपत की 10 साल की तन्वी ने दर्ज कराया एशिया बुक आफ रिकार्ड में नाम, जानें क्यों

पानीपत-रिफाइनरी टाउनशिप स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल की कक्षा पांच की छात्रा तन्वी सिंह ने इंडिया के बाद अब एशिया में भी अपना परचम लहराया है। इससे दो माह पूर्व भी तन्वी सिंह ने इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया था। दस वर्ष की उम्र में तन्वी सिंह पुत्री मुकेश कुमार सिंहानियां ने एशिया मैमोरी रिकॉर्ड अपने नाम किया है। तन्वी सिंह ने ‘पाई की 101 डिजिट मात्र 09 सेकेंड में अपनी मैमोरी से रिकॉल कर एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। रिफाइनरी में कार्यरत पिता मुकेश कुमार व माता अनीता ने बताया कि उनकी बेटी दस वर्षीय तन्वी की याददाश्त काफी अच्छी है।

इसके साथ ही याददाश्त को और बेहतर बनाने के लिए लाकडाउन के दौरान तन्वी को आनलाइन मैमोरी बुस्टर ट्रेनिगं करायी थी जो राइम अकेडमी बरेली उत्तर प्रदेश के संस्थापक परमजीत सिंह द्वारा संचालित थी। उन्होंने बताया कि एशिया बुक आफ रिकार्ड की तरफ से तन्वी को सार्टिफि केट के साथ मेडल, एक पेन मेड इन जर्मन, एक बैज और कार स्टीकर आदि भेजे गये हैं। अब एशिया बुक ऑफ रिकार्ड के अगले अंक में तन्वी सिंह का नाम और फोटो  दर्ज किया जाएगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *