गृहमंत्री के साथ सीएम ने मिलाए सुर, बोले कांग्रेस कर रही साजिश-लाठीचार्ज जैसा कुछ नहीं हुआ

देश में कृषि बिलों को लेकर चल रही सियासत के बीच सोमवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने प्रदेश के अंदर किसानों पर लाठीचार्ज की घटना को पूरी तरह से नकार दिया है, उन्होंने सूबे के गृह मंत्री अनिल विज की बात पर मुहर लगा दी है। विज पहले ही दिन से इसे कांग्रेसी नेताओं की साजिश व लाठीचार्ज की घटना से इनकार कर रहे हैं। सीएम मनोहरलाल द्वारा विज की बात पर मुहर लगाए जाने के बाद गठबंधन के साथी एवं डिप्टी सीएम दुष्यंत उनके छोटे भाई दिग्विजिय चौटाला के लिए झटके वाली बात है क्योंकि दोनों लाठीचार्ज की पुष्टि करते हुए विपक्ष के सुर में सुर मिला रहे थे। कुल मिलाकर सोमवार को चंडीगढ़ भाजपा दफ्तर में पहुंचे मुख्यमंत्री ने मीडिया के सवालों पर नो लाठीचार्ज की प्रतिक्रिया दी। इसके साथ ही किसानों के नाम पर सियासत करने वाले नेताओं को आड़े हाथों लिया और साफ कर दिया कि तीनों बिल किसानों की आजादी और सम्मान दिलाने वाले हैं। अब किसान किसी के भी हाथो में खेलने वाला नहीं हैं। मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने साफ कर दिया कि लाठी चार्ज जैसी कोई बात नहीं हैं।

उन्होंने साफ किया कि कईंं बार भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठियां भांजी जाती हैं, मारी नहीं जाती। अब लोग इसको लाठी मारना कहेंगे क्या ? सीएम ने एक घटना का जिक्र किया व साथ ही कहा कि कईं बार बचाव में भी पुलिस कर्मियों को कदम उठाने होते हैं लेकिन लाठीचार्ज के लिए कोई आदेश नहीं था। इसके लिए एक पहले से व्यवस्था होती है, बिना मजिस्ट्रेट की पर्मिशन के लाठी नहीं चला सकता। उन्होंने एक घटना का जिक्र भी किया व कहा कि पुलिस कर्मियों पर अगर कोई ट्रैक्टर चढ़ाना शुरु कर दे, तो अपने बचाव में पुलिस को कईं कदम उठाने होते हैं। सीएम ने साफ कर दिया कि कृषि बिलों को लेकर देश का किसान खुश है, इसीलिए आंदोलन फेल हो चुका है।

-अनिल विज पहले ही दिन से लाठीचार्ज को रहे नकार

पीपली कुरुक्षेत्र में किसानों पर लाठीचार्ज किए जाने को पहले ही दिन से पूरी तरह नकार रहे हैं। अनिल विज ने सोमवार को कहा कि किसानों के कंधे पर बंदूक रखकर कुछ कांग्रेसी खेल करना चाहते थे लेकिन लोगों ने इसे नकार दिया गया है। विज ने कहा कि एमएसपी को लेकर जिस देश का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद जनता के सामने अपनी बात रख चुके हैं, जिसमें उन्होंने एमएसपी पर पहले की तरह से सरकारी खरीद होगी। विज ने कहा कि अब देश का किसान पूरी तरह से जागरूक है, पहले वाला किसान नहीं रहा है, इसीलिए इस आंदोलन को समर्थन नहीं मिला। विज पहले ही दिन से किसानों पर लाठीचार्ज की बात को पूरी तरह से नकार रहे हैं। विज ने कहा कि किसी भी तरह का कोई लाठीचार्ज नहीं हुआ, अगर किसी को कोई शक है, तो जमीनी हकीकत को जान लें।

-जजपा और अपनी पार्टी को भी नसीहत

राजधानी चंडीगढ़ में सोमवार को अनिल विज ने गठबंधन और भाजपा के कुछ नेताओं द्वारा लाठीचार्ज की निंदा करने से पहले धरातल पर जाकर देखना चाहिए था, जिसके बाद ही कोई टीका टिप्पणी करनी चाहिए थी। धरातल पर जाकर देख लें सच्चाई-विज हरियाणा के वरिष्ठ भाजपा नेता औऱ गृहमंत्री अनिल विज ने पीपली कुरुक्षेत्र में लाठीचार्ज के दावे करने वाले नेताओं को एक बार फिर से कहा कि खुद धरातल पर जाकर देखें सच्चाई, उसके बाद ही करें कोई टिप्पणी। अनिल विज ने एक बार फिर से सोमवार को कहा कि कांग्रेस के नेता पहले पर्दे के पीछे से प्रदेश की शांति को भंग करने की साजिश रच रहे थे लेकिन अब खुलकर लोगों को गुमराह कर लोगों को भड़काने का काम कर रहे हैं लेकिन देश के लोगों का साथ इन नेताओं को नहीं मिला है, किसान भी इन लोगों की सच्चाई को समझ चुके हैं।

Leave a Comment