पति ने खाया सल्फास, तो दो बच्चों संग पत्नी भी कूदी पानी की टंकी में, एक बच्ची सकुशल लौटी

रोहतक की हेल्थ यूनिवर्सिटी में नर्सिंग कॉलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. प्रमोद सहारण  ने जहरीला पदार्थ का सेवन कर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली। जब यह बात पत्नी मिनाक्षी सांगवान का पता लगी तो वह भी अपने दोनों बच्चों के संग पानी की टंकी में कूद गई। थोड़ी देर बाद 11 साल की बड़ी बेटी पानी की टंकी से निकल गई और परिजनों के पास पहुंच गई और पूरा घटनाक्रम कह सुनाया, जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और पानी की टंकी में सर्च किया लेकिन मिनाक्षी व छोटी बेटी नहीं मिली। जानकारी के मुताबिक राजस्थान के राजगढ़ निवासी 35 वर्षीय डॉ. प्रमोद सहारण की ड्यूटी रोहतक  हेल्थ यूनिवर्सिटी में थी। उनकी शादी चरखी दादरी की मिनाक्षी सांगवान के साथ हुई थी। मिनाक्षी काहनौर में लेक्चरर थीं। उनके दो बच्चे भी थे।

-यह था पूरा मामला

बुधवार को असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ़ प्रमोद वो गुरुग्राम में पेपर देकर वापस लौट रहे थे कि कन्हैली गांव के पास उन्होंने सल्फास खाकर खुदकुशी कर ली। उनकी कार से पांच पाउट सल्फास के बरामद हुए हैं। उनके पास सुसाइड नोट भी मिला है जिसमें लिखा है कि मेरी मौत के लिए सिर्फ भगवान जिम्मेदार है। बहुत दौड़ धूप कर ली लेकिन कुछ सही नहीं हुआ। इसकी सूचना मिलते ही पत्नी मिनाक्षी भी अपने बच्चों को लेकर घर से लापता हो गई। काफी समय बाद पता चला कि मिनाक्षी बच्चों सहित सोनीपत रोड पर सेक्टर 2 स्थित जलघर के टैंक में कूद गई है। बताया जा रहा है कि प्रमोद अपने भाई की मौत से दुखी रहने लगे थे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *