पाईट कॉलेज में वार्षिक सास्ां कृतिक कार्िक्रम का ऑनलाइन आग़ाज़

पाईट कॉलेज समालखा में सांस्कृतिक और तकनीकी प्रतियोगिताओं का कार्यक्रम कल्चरल वीक का ऑनलाइन आगाज़ कल शाम 6 बजे हुआ|यह कार्यक्रम लगातार 7 दिन के लिए चलेगा और ऑनलाइन माध्यम से कलिनरी, पोएट्री,शटरअप,डेक्लामेशन,आर-जे हंट, क्विज, मूवीमेनिया, रॉकेटलीग, सिंगिंग, इंस्ट्रुमेंटल,रंगोली, रैप, सोलो डांस और डुएटडांस जैसी प्रतियोगिताए होंगी जिसमें कॉलेज के वर्तमान विधार्थियों के अलावा
एलुम्नाई भी हिस्सा ले रहे हैं|पानीपत के जाने माने उधोगपति और समाज सेवी श्री राम निवास गुप्ता, समाजसेवी और पाईट कॉलेज के चेयरमैन हरी ओम तायल, मेंबर सेक्रेटरी सुरेश तायल,वाईस चेयरमैन राकेश तायल, मेंबरबी ओजी शुभम तायल और डॉ बीबी शर्मा ने ऑनलाइन माध्यम से ही सरस्वती वंदना के साथ इस कार्यक्रम का शुभारंभ किया | राम निवास गुप्ता जी ने सभी विधार्थियों और शिक्षकों के साथ ऑनलाइन माध्यम से जुड़कर उन्हें बधाई दी कि ऐसे हालात में भी ऐसे कार्यक्रम संभव हो सकते है बस जरुरत होती है दृढ़ निश्चय की |क्योंकि पोएट्री की प्रतियोगिता है इसलिए उन्होंने भी कुछ पंक्तिया बच्चों के सामने रखी ;सब कुछ तुझ पर मुनस्सर नहीं है बूत हमने जिसको पूजा खुदा बना दिया और हयात एक मुश्किल गम के सिवा कुछ भी नहीं शायद ख़ुशी भी याद आती है तो आँसू बनकर आती है|
पाईट कॉलेज की मैनेजमेंट को बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि कॉलेज मैनेजमेंट बधाई की पात्र है क्योंकि बच्चों की प्रतिभा को निखारने के लिए ऐसे कार्यक्रम बहुत जरुरी है नहीं तो बच्चे घर बैठे बैठे अपनी प्रतिभा को भूलते जा रहे है | राकेश तायल ने मुख्य अतिथि राम निवास गुप्ता जी का आभार प्रकट किया और कार्यक्रम के सभी प्रतिभागियों का स्वागत किया |पहले दिन के आयोजन में दो प्रतियोगिता हुई एक कलिनरी शो और दूसरी पोएट्री | कलिनरी शो में फाइनल राउंड में पहुंचे विधार्थियों ने ऑनलाइन ही अलग अलग डिश तैयार की जिन्हे डॉ वैशाली वधवा और डॉ आशिमा ठाकुर ने अपनी जजमेंट से अच्छी तरह से परखा और उनसे अलग अलग रेसिपी और मसालों के बारे में सवाल भी पूछे | प्रतियोगिता में एम बी ए के पीयूष चुघ ने बाजी मारी और बी बी ए की महक खुराना ने दूसरा स्थान हासिल किया |काव्य रस प्रतियोगिता में फाइनल राउंड में 12 प्रतिभागियों ने देशभक्ति, बलात्कार, नारी शक्ति, भ्रष्टाचार जैसे कई विषयो पर अपनी कविता पढ़ी | डॉ विनोद दहिया और राजन सलूजा ने सभी प्रतिभागियों की कविता को ध्यान से सुना और फैसला दिया | बी टेक की महक ने पहला स्थान हासिल किया और लकी खन्ना की कविता को दूसरा स्थान मिला | सभी विजेताओं को सर्टिफिकेट के साथ साथ इनाम के तौर पर दीवाली की खरीदारी के लिए गिफ्ट वाउचर दिए गए | शुभम तायल ने कार्यक्रम के संयोजक विकास नैन, उपासना, स्मृति एवं अन्य शिक्षकों का बधाई दी कि इनकी मेहनत से ही ऐसा कार्यक्रम संभव हो पाया है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *