जहरीली शराब पीने से मरने वालों को आर्थिक सहायता के साथ परिवार के एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दे सरकार – भूपेंद्र सिंह हुड्डा

पानीपत, 8 नवंबर (इंडिया की दहाड़ ब्यूरो)। पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने पानीपत के धनसौली गांव में जहरीली शराब पीने से मृत लोगों के परिजनों से मुलाकात कर अपनी संवेदना व्यक्त की। इस दौरान भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने मरने वालों के प्रति संवेदना प्रकट करते हुए सरकार से पीड़ित परिवारों को उचित मुआवजा और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग की है। भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि मरने वालों में कुछ ऐसे लोग भी है, जिनके परिवारजनों के पास अब आय का कोई साधन नहीं बचा। ऐसे में उनकी मदद करना सरकार का नैतिक कर्तव्य बनता है। हुड्डा ने सरकार से मामले की उच्च स्तरीय और त्वरित जांच करवा दोषियों को सख्त से सख्त सजा देने की भी मांग की है।

भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि आज हरियाणा में सरकार के स्थान पर माफिया का राज चल रहा है। यहीं कारण है कि रोजाना कोई ना कोई घोटाला सामने आ रहा है। लॉकडाउन के दौरान जब पूरे देश के लोग अपने घरों में कैद थे, उस समय में भी हरियाणा में बड़ा शराब घोटाला हुआ। हुड्डा ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान हुए इस शराब घोटाले की आज तक जांच भी पूरी नहीं हो पाई है। पहले सरकार ने एसआईटी के स्थान पर शराब घोटाले की जांच एसईटी से करवाई। एसईटी की रिपोर्ट आने के बाद फिर इसकी जांच विजिलेंस से करवाई जा रही है। हुड्डा ने कहा कि कई महीने गुजर जाने के बाद भी विजिलेंस इस पूरे मामले में किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंची है और ना ही किसी बड़े व्यक्ति के खिलाफ कोई कार्रवाई की गई है ।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि जहरीली शराब पीने से मरने वाले लोगों ने शराब मंजूरशुदा ठेके के स्थान पर किसी दूसरे व्यक्ति से खरीदी थी तो उस पर रोक लगाना भी सरकार का काम है, लेकिन आज हरियाणा में सरकार और कानून नाम की कोई व्यवस्था नहीं रह गई है। यही कारण है कि पूरे प्रदेश में शराब माफिया अपने पैर पसार चुका है और लगातार बढ़ रहे अपराध के कारण हरियाणा बेरोजगारी के बाद अब अपराध के क्षेत्र में भी तेजी से आगे बढ़ रहा है ।

Leave a Comment