प्रदेश के 10 शहरों में खतरनाक स्तर पर पहुंचा प्रदूषण

8 नवंबर (इंडिया की दहाड़ ब्यूरो)। प्रदेश के 10 शहरों में प्रदूषण का स्तर खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। इससे नवजात बच्चों, बुर्जुगों को दिक्कत हो सकती है, यही नहीं स्वस्थ व्यक्ति भी बीमारियां जकड़ सकती हैं। प्रदेश में दिवाली पर ठंड का सामना करना पड़ सकता है, क्योंकि 12 नवंबर को पहाड़ों में पश्चिम विक्षोभ से बर्फबारी की संभावना है। 14 नवंबर के आसपास हरियाणा में पहाड़ों से ठंडी बयार बहने की संभावना है। ऐसे में रात का पारा एक से दो डिग्री और कम हो सकता है।

अभी से प्रदेश में रात का पारा सामान्य से 4 डिग्री तक कम है। ऐसे में न केवल रात बल्कि दिन के तापमान भी कम हो सकते हैं। चंडीगढ़ आईएमडी के निदेशक डॉ. सुरेंद्र पाल के अनुसार फिलहाल दिन व रात के तापमान में 20 डिग्री का अंतर आने से कई तरह की बीमारियां भी लोगों को चपेट में ले रही हैं।

फसल अवशेष जलने के कारण स्मॉग छंटने में समय लगेगा

प्रदेश के कई जिलों में फसल अवशेष जलाए जाने की वजह से स्मॉग छाया हुआ है। दृष्यता भी काफी कम रह जाती है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि बरसात होने या तेज हवा चलने तक करीब एक किलोमीटर की लेयर में स्मॉग बना रह सकता है। यानी सात दिनों तक इसी तरह का स्मॉग रह सकता है।

25 अक्टूबर से 7 नवंबर तक 7227 जगह जले अवशेष

प्रदेश में शनिवार को करीब 197 जगहों पर फसल अवशेष जले हैं, इनमें फतेहाबाद में 58 और 54 जगह जींद में फसल अवशेष जलाए गए हैं। कैथल में 35 जगह फसल अवशेष जलने की स्पॉट मिली हैं। 25 अक्टूबर से सात नवंबर तक 7227 जगह फसल अवशेष जलाए जा चुके हैं। इससे धुएं का गुब्बार आसमान में बन रहा है।

रात का पारा 10 डिग्री के आस-पास

प्रदेश के अधिकांश जिलों में रात का तापमान 10 डिग्री के आस-पास रहा। जो सामान्य से चार डिग्री तक कम रहा। हिसार में यह 10.0, नारनौल 10.8, कुरुक्षेत्र 11.5 डिग्री, रोहतक 10.6 डिग्री, सिरसा 12.4 डिग्री रहा। जबकि दिन का तापमान 30 डिग्री के आस-पास रहा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *