कोरोना और धारा 144 का हवाला देकर सिपाही ने पानीपत में किसानों पर 7 धाराओं के तहत दर्ज किया गया मामला

पानीपत-28 नवंबर, 2020(इंडिया की दहाड़ ब्यूरो) कृषि बिलों के विरोध में दिल्ली कूच करने वाले किसान नेताओं पर पानीपत के सेक्टर-29 में केस दर्ज किया गया है। भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारी रतन मान और गुरनाम सिंह चढ़ूनी समेत किसानों पर सेक्टर-29 थाना में तैनात सिपाही निशांत ने सात धाराओं में केस दर्ज कराया है। केस में कोरोना महामारी, जिले में धारा 144 लागू होने, अधिकारियों के कार्य में बाधा डालने का हवाला दिया है।

छह घंटे तक बनी रही थी टकराव की स्थिति

कृृषि बिलों के विरोध में दिल्ली कूच के दौरान शुक्रवार को पानीपत पुलिस लाइन के सामने किसानों और पुलिस-प्रशासन में करीब छह घंटे तक टकराव की स्थिति बनी रही थी। पुलिस ने रुक-रुककर किसानों पर वाटर कैनन से पानी की बौछार की और आंसू गैस के गोले दागे। पुलिस ने बैरिकेडिंग और सड़क पर ट्रकों को खड़ा कर किसानों को रोकने का प्रयास किया था, लेकिन किसान पुलिस की सभी कोशिशों को नाकाम करते हुए सोनीपत की तरफ निकल गए। मौके पर मौजूद IG करनाल भारती अरोड़ा और SP पानीपत मनीषा चौधरी ने किसान नेताओं को जिले में धारा 144 लागू होने के संबंध में समझाया भी, लेकिन किसान नहीं माने।

सेक्टर-29 थाने में तैनात सिपाही निशांत ने दर्ज FIR में बताया है कि पानीपत पुलिस लाइन के सामने बैरिकेडिंग होने और अधिकारियों द्वारा किसानों को समझाने के बावजूद किसान नहीं रुके। कोरोना महामारी की गाइड लाइन, धारा 144 और अधिकारियों के निर्देश न मानने पर सिपाही की तरफ से सात धाराओं में मान और चढ़ूनी ग्रुप के साथ अज्ञात किसानों पर केस दर्ज किया गया है।

Leave a Comment