टिकरी बॉर्डर पर आंदोलन में शामिल एक और किसान की हार्ट अटैक से मौत

दिल्ली-30 नवंबर, 2020 (इंडिया की दहाड़ ब्यूरो) कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे एक और किसान की मौत का मामला सामने आया है। लुधियाना समराला के कटरा भगवानपुरा गांव के रहने वाले किसान गज्जर सिंह की रविवार देर रात दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई।

गज्जर सिंह की बहादुरगढ़ बाईपास पर न्यू बस स्टैंड के पास मौत हुई। मृतक के शरीर को नागरिक अस्पताल में रखवाया गया। इससे पहले शनिवार रात कार में आग लगने से एक किसान की मौत हो गई थी। मृतक पंजाब के बरनाला जिले के धनोल गांव का रहने वाला था। आग लगने के दौरान वह अपनी कार में सो रहा था।
यह घटना बहादुरगढ़ के नजफगढ़ रोड फ्लाईओवर पर हुई थी। जहां राज और उनके दोस्त रात में आराम कर रहे थे। आग की लपटें इतनी विकराल थी कि कार को आग का गोला बनते देख देर नहीं लगी। कार का सेंट्रल लॉक होने की वजह से किसान को बाहर नहीं निकाला जा सका। किसान की कार में ही मौत हो गई। इसके अलावा भिवानी में भी शुक्रवार को दिल्ली कूच कर रहे किसान की सड़क हादसे में मौत हो गई थी। हादसा भिवानी जिले के मॉडल गांव के पास बैरियर पर हुआ था। एक ट्रक ने दिल्ली कूच कर रही किसानों की रैली को पीछे से टक्कर मार दी थी। जिसे ट्रैक्टर में सवार 45 वर्षीय धरना सिंह नामक किसान की मौके पर ही मौत हो गई।
बता दें कि आंदोलन का आज पांचवा दिन है। दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का प्रदर्शन जारी है। आज वें दिल्ली के पास एंट्री प्वाइंट्स को सील करने की तैयारी में किसानों के जमावड़े को देखते हुए पुलिस ने सिंधु और टिकरी बॉर्डर को आवाजाही के लिए बंद कर दिया है।

Leave a Comment