5वें दिन भी जारी है किसानों का धरना, दिल्ली के सभी एंट्री प्वाइंट्स बंद करने की दी चेतावनी

दिल्ली- 30 नवंबर, 2020 (इंडिया की दहाड़ ब्यूरो) कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली कूच करने निकले किसानों का धरना आज पांचवें दिन भी जारी है। किसान लगातार दिल्ली जाने की मांग पर अड़े हैं तो वहीं, सरकार अन्नदाताओं को मनाने में जुटी है। हालांकि किसानों ने सरकार का बातचीत का प्रस्ताव ठुकरा दिया है तो वहीं प्रदर्शन कर रहे किसानों ने दिल्ली में प्रवेश करने वाले सभी पांच रास्तों को बंद करने की चेतावनी दे डाली है।

भारतीय किसान यूनियन के जनरल सेक्रेटरी हरेंद्र सिंह लाखोवाल ने कहा कि सभी किसान संगठनों ने फैसला लिया है कि वे सिधु बॉर्डर पर ही बैठे रहेंगे और आने वाले दिनों में दिल्ली की ओर जाने वाली अन्य सड़कों को भी जाम करेंगे। उन्होंने कहा कि यह पंजाब के 30 किसान संगठनों का फैसला है। बता दें कि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने शनिवार को किसानों से दिल्ली के बुराड़ी ग्राउंड आकर प्रदर्शन करने की अपील करते हुए उन्हें आश्वासन दिया था कि बुराड़ी ग्राउंड शिफ्ट होने के दूसरे दिन ही भारत सरकार उनके साथ चर्चा के लिए तैयार है।

वहीं, दिल्ली पुलिस का कहना है कि ट्रैफिक की आवाजाही के लिए सिंघु और टिकरी बॉर्डर बंद है। यहां किसानों ने अपना डेरा डाल रखा है। दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के धरना-प्रदर्शन के चलते फलों और सब्जियों की आपूर्ति बाधित होने से इनकी कीमत बढ़ गई है। दिल्ली में सेब का खुदरा भाव 120 रुपये प्रति किलो से ऊपर हो गया है, जबकि दो दिन पहले सेब 80 से 100 रुपये किलो बिक रहा था। इसी प्रकार आलू का भाव अब 50 रुपये प्रति किलो पर आ गया है, पहले 40 रुपये किलो आलू बिक रहा था।

Leave a Comment