पाईट कॉलेज में शुरू होगा स्टार्ट अप इन्क्यूबेशन प्रोग्राम, अब विधार्थी जॉब प्रोवाइडर बनेंगे : राकेश तायल

पाईट कॉलेज के डॉ एपीजे अब्दुल कलाम ऑडिटोरियम में विद्यार्थियों के समक्ष इंडिया एक्सेलेरेटर के आशीष भाटिया स्टार्ट अप को बढावा देने के लिए पहुंचे। कॉलेज के मेंबर सेक्रेटरी सुरेश तायल कॉलेज के वाइस चेयरमैन राकेश तायल, ट्रस्टी शुभम तायल, निदेशक डॉ शक्ति कुमार और राजीव गुलाटी ने आशीष भाटिया और उनकी टीम के सभी सदस्यों का आभार प्रकट किया । कार्यक्रम को ज़ूम के जरिए विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन माध्यम से भी प्रसारित किया गया।

इंडिया एक्सेलेरेटर के आशीष भाटिया ने बताया कि उनकी कंपनी का उद्देश्य यही है कि किस तरह से देश में स्टार्ट अप को बढावा दिया जाए ताकि नए रोजगार पैदा हो सके। उन्होंने बताया कि अमेरिका के बाद हमारा देश स्टार्ट अप के लिए पूरे विश्व में दूसरी सबसे पसंदीदा जगह बनता जा रहा है।

हर रोज नए नए स्टार्ट अप हमारे देश मे शुरू है रहे है और नए – नए तरीके के रोजगार बन रहे है। विद्यार्थियों को अपने आइडिया को किस तरह से स्टार्ट अप के माध्यम से सामने लाना चाहिए व क्या – क्या समस्याएं आ सकती है, किस तरह से उनसे निपटना है, किस तरह से वेंचर फंड लाना है, समय के साथ कैसे इन्वेस्टर को लाना है, मार्केट में अपने आप को कैसे खड़ा करना है, कैसे नेटवर्क बड़ाना है किस तरह से अपने आप को ग्लोबल बनाना है, ऐसे सभी सवालों के जवाब उन्होंने अलग – अलग स्टार्ट अप के उदाहरण देते हुए बताए ।

विद्यार्थियों ने भी उनसे कई सवाल पूछे जिनका आशीष और उनकी टीम के दीपक और मोना ने बड़े अच्छे से जवाब दिया। राकेश तायल ने विद्यार्थियों को बताया कि कैंपस के इनक्यूबेशन सेंटर में ही विद्यार्थियों के लिए इंडिया एक्सलरेटर द्वारा एक वर्ष का स्टार्ट अप इन्क्यूबेशन प्रोग्राम शुरू किया जा रहा है जिसमे विद्यार्थियों को स्टार्ट अप खोलने से लेकर आने वाली सभी समस्याओं और उनके समाधानए और बिजनेस प्रोमोशन और ग्लोबलाइजेशन के बारे में ट्रेनिंग दी जाएगी ।

साथ – साथ किस तरह से सरकारी और प्राइवेट फाइनेंसिंग कंपनियों द्वारा अलग – अलग कार्यक्रम और फंडिंग की सुविधाएं दी जा रही है इसके बारे में विधार्थियों को बताया जाएगा ।कार्यक्रम के अंत में सुरेश तायल ने प्लांटर देकर इंडिया एक्सेलेरेटर के सभी प्रतिनिधियों का आभार व्यक्त किया।

इस अवसर पर डॉ भावना गुप्ता, डॉ विनय खत्री, डॉ अखिलेश मिश्रा, डॉ दिनेश वर्मा, डॉ सुनील ढुल, डॉ पूनम वर्मा, डॉ तन्वी सिंह, ओ पी रनोलिया, रत्तंदीप अनेजा, राजन सलूजा, डॉ रश्मि, तरुण मिगलानी आदि मौजूद रहे।

 

 

 

 

Leave a Comment