पाईट में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस 2021 प्रतियोगिता में बी टेक के नरेश ने पाया पहला स्थान

पाईट में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस 2021 का आयोजन के अवसर पर, एप्लाइड साइंस

विभाग ने “भविष्य में शिक्षा, स्किल्स और कार्य पर साइंस ,

टेक्नोलॉजी और इनोवेशन का क्या प्रभाव होगा ” विषय पर

एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया |

देश में हर साल 28 फरवरी को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस भारत में मनाया जाता है,

जिसका मुख्य कारण भारत में विज्ञानं के क्षेत्र में पहला नोबेल पुरस्कार है,

जिसे सर सीवी रमन द्वारा रमन प्रभाव की खोज के लिए हासिल किया गया था।

यह विज्ञान की संस्कृति और लोगों के कल्याण के लिए विज्ञान

के सदुपयोग पर जोर देने के लिए भी मनाया जाता है।

इस कार्यक्रम का आयोजन डॉ विनय खत्री, एचओडी, एप्लाइड साइंस

विभाग और डॉ पूनम वर्मा, सहायक प्रोफेसर, एप्लाइड साइंस विभाग की

अध्यक्षता में किया गया |

200 से ज्यादा विधार्थियों ने इस आयोजन में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई |

समारोह का उद्घाटन कॉलेज के वाईस चेयरमैन राकेश तायल,

शुभम तायल, मेंबर बीओजी, डॉ विनय खत्री ने सर सीवी रमन

के फोटो पर फूल अर्पित कर के किया |

विभिन्न विभागों के छात्रों की 17 टीमों ने एपीजे ऑडिटोरियम

में विज्ञानं के अलग विषयों जैसे साइंस और टेक्नोलॉजी का भविष्य ,

हाइड्रोजन को आने वाले समय में वैकल्पिक ईंधन के तौर पर इस्तेमाल करना ,

फ्लोटिंग विंड मिल्स , रोबोट कार , ब्लॉक चैन, संस्कृत और संस्कृति

इत्यादि पर अपने विचार प्रस्तुत किए। कार्यक्रम में डॉ अखिलेश मिश्रा,

रतनदीप अनेजा और डॉ सुनील ढुल ने जज की भूमिका निभाई |

सभी जजों ने बड़े ध्यान से सभी विधार्थियों के विचारों को अच्छे

से सुना और समझा |

कड़े मुकाबले में 2 केटेगरी में विजेताओं के नाम निकाले गए |

टेक्निकल केटेगरी में बी टेक के नरेश ने पहला स्थान हासिल किया

और नॉन टेक्निकल में एम बी ए की तान्या और भावना की टीम ने पहला स्थान हासिल किया |

वही दूसरे स्थान पर बी बी ए की कुणाल और हर्षिता की टीम रही |

टेक्निकल मुकाबले में बी टेक के भूमेश ने दूसरा स्थान हासिल किया |

इस इंटर डिपार्टमेंट प्रतियोगिता में पूरे कॉलेज के विधार्थी बड़े उत्साहित दिखे ।

डॉ विनय खत्री ने विधार्थियों को संबोधित करते हुए सर सीवी रमन

के जीवन के बारे में बात की। उन्होंने न केवल इस महान हस्ती

के जीवन के बारे में छात्रों को परिचित कराया, बल्कि राष्ट्रीय विज्ञान दिवस

के महत्व पर भी प्रकाश डाला। राकेश तायल ने प्रतिभागियों को

जबरदस्त रुचि दिखाने के लिए बधाई दी और विजेताओं को सर्टिफिकेट

और ट्रॉफी देकर प्रोत्साहित किया। उन्होंने आयोजन के सफल समापन पर

सभी आयोजकों की सराहना की। उन्होंने टेक्नोलॉजी और इनोवेशन पर

आने वाले समय में होने वाले बदलावों के बारे में अपनी बात रखी |

कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए डॉ मंजू , डॉ निशा , दिनेश,

विनोद दहिया , डॉ रचना , डॉ प्रतिभा , राधिका , डॉ संजीव , डॉ जुगमेंदर ,

डॉ मोनू कालड़ा ,नगमा , नितिन ,दीपक सिंगला , नेहा आदि शिक्षकों का योगदान रहा

Leave a Comment