समालखा ट्रैफिक पुलिस द्वारा वकील के साथ गलत व्यवहार करके उसकी मोटरसाईकिल को इम्पाउंड करने के विरोध में समालखा बार के वकीलो ने रखा वर्क सस्पेंड

समालखा एएसपी पूजा वशिष्ट द्वारा बार एसोशिएशन के पदाधिकारियों  के साथ ठीक व्यवहार न किये जाने के विरोध में समालखा के वकीलों ने मीटिंग बुलाकर अनिश्चित काल के लिए वर्क सस्पैंड किया।

एएसपी के व्यवहार की शिकायत गृह मंत्रालय, डी.जी.पी. समेत उच्च अधिकारियों को भेजने बारे प्रस्ताव पारित किया।बुधवार से पानीपत बार भी इस हडताल में शामिल होगी।जब तक एएसपी बार में आकर माफी नही मागेगी तब तक हडताल जारी रहेगी।

समालखा ट्रैफिक पुलिस द्वारा सोमवार देर शाम स्थानीय रेलवे रोड पर एक मोबाईल की दुकान के बाहर वकील के साथ गलत व्यवहार करके उसकी खडी मोटरसाईकिल का गलत तरीके से 20,000 का चालान काटने व उसे इम्पाउंड करने तथा वकील के साथ पुलिस कर्मियों द्वारा दुर्व्यवहार करने के विरोध में मंगलवार को समालखा बार एसोशिएसन के सभी वकीलों ने अपना वर्क सस्पैंड रखा।

इसके बाद जब उक्त ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की शिकायत करने के लिए समालखा बार के प्रधान गुलराज गाहल्याण के नेतृत्व में वकीलो का एक प्रतिनिधि मण्डल अपनी लिखित शिकायत लेकर एएसपी पुजा वशिष्ट के पास पहुंचा तो उन्होने भी वकीलो के साथ ठीक तरीके से पेश न आकर बगैर किसी जांच पडताल के दोषी पुलिस कर्मियों का पक्ष लिया और उनके खिलाफ कार्यवाही करने से मना कर दिया।

वकीलो के प्रतिनिधि मण्डल के साथ एएसपी के इस प्रकार के व्यवहार को देखकर वकीलो में रोष पनप गया। उन्होने समालखा बार के सभी वकीलो की एक बैठक बुलाई गई जिसमें बार के पूर्व प्रधान एडवोकेट सतपाल छौक्कर, पूर्व प्रधान एडवोकेट अनिल छौक्कर, एडवोकेट सचिन छौक्कर, पूर्व उप प्रधान एडवोकेट दयानन्द पंवार, बार के उप-प्रधान एडवोकेट मांगे राम रावल, बार सचिव एडवोकेट अनिल छौक्कर, एडवोकेट महेश कौशिक, एडवोकेट जसबीर आदि वकीलो ने मीटिंग को सम्बोधित किया तथा सभी वकीलो ने एकमत होकर प्रस्ताव पास किया कि जब तक दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ जांच करवाकर कार्यवाही नही की जाती तब तक व एएसपी पुजा वशिष्ट द्वारा वकीलो के साथ ठीक तरीके से बर्ताव न किये जाने पर बार में आकर माफी नही मांगती तब तक समालखा बार के दोनो कोर्ट का कार्य पूर्ण रूप से बंद रखा जायेगा कोई भी वकील किसी भी मुकदमें मे पेश नही होगा।

इसके अलावा जिला पानीपत की बार को भी बुधवार से शामिल किया जायेगा। बुधवार को पानीपत की सभी कोर्ट का कार्य सस्पैंड रखा जायेगा। इसके बाद भी अगर पुलिस प्रशासन द्वारा कोई कार्यवाही नही की जाती तो कोर्ट का कार्य अनिश्चितकाल के लिए सस्पैंड किये जाने का प्रस्ताव भी पारित किया गया।

मिटिंग में एएसपी पुजा वशिष्ट द्वारा वकीलो के साथ किये गये बर्ताव की शिकायत गृह मंत्रालय, भारत सरकार, डी.जी.पी. हरियाणा पुलिस, समेत अन्य उच्च अधिकारियों को करने का प्रस्ताव भी पारित हुआ। बार के प्रधान गुलराज गाहल्याण ने कहा कि यदि इस लडाई में हरियाणा पंजाब बार एसोशिएसन व बार काउसिल ऑफ इण्डिया की जरूरत पडी तो हम उनको भी अपनी समस्या से अवगत करायेंगे।

मिटिंग में एडवोकेट प्रमोद भारद्वाज, एडवोकेट सुमित गाहल्याण, एडवोकेट तेलू राम छौक्कर , एडवोकेट नरेन्द्र वशिष्ट, एडवोकेट मुकेश शर्मा , एडवोकेट अशोक रावल, एडवोकेट मोहित शर्मा आदि शामिल हुए।

 

Leave a Comment