पाईट ने एशिया टुडे रिसर्च एंड मीडिया की 11 वीं एशिया एजुकेशन समिट और अवार्ड्स 2021 में जीता सर्वश्रेष्ठ कॉलेज का अवार्ड

पानीपत

इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी ने अपनी स्थापना के बाद से 15 साल की अवधि में, उच्च शिक्षा के क्षेत्र में राष्ट्र के प्रमुख संस्थानों में से अपना नाम बना लिया है । पाईट की उपलब्धियों की सूची में एक और उपलब्धि का नाम जुड़ गया , 11 वीं एशिया एजुकेशन समिट और अवार्ड्स 2021 में पाईट को इनोवेशन एंड एंटरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट में सर्वश्रेष्ठ संस्थान से सम्मानित किया गया। इस पुरस्कार समारोह का आयोजन एशिया टुडे द्वारा किया गया। माननीय शिक्षा मंत्री श्री रमेश पोखरियाल , राज्य शिक्षा मंत्री संजय श्यामराव धोत्रे , सोशल जस्टिस एंड एम्पावरमेंट मिनिस्टर रामदास अठावले , माइक्रो , स्माल एंड मीडियम एंटरप्राइज , पशु पालन , मत्स्य विभाग मंत्री प्रताप चन्द्र सारंगी , सांसद श्रीमती सुनीता दुग्गल , सिने तारिका एवं पूर्व सांसद श्रीमती जया परदा ने समिट में पहुँचकर कार्यक्रम की शोभा बड़ाई | पाईट कॉलेज की तरफ से अवार्ड लेने कॉलेज के मेंबर सेक्रेटरी सुरेश तायल और वाईस चेयरमैन राकेश तायल पहुंचे |  कॉलेज के वाईस चेयरमैन राकेश तायल ने जानकारी देते हुए बताया कि इनोवेशन एंड एंटरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट के क्षेत्र में पाईट को  देश में अग्रणी संस्थान बनने की दिशा में बीज तो  2017 में  कैंपस में स्मार्ट इंडिया हैकथॉन के संचालन के साथ बोए गए थे।इनोवेशन-इनक्यूबेशन एंड इमर्जिंग टेक्नोलॉजीज के क्षेत्र में उत्कृष्टता केंद्र स्थापित करने का मिशन उसी दिन से शुरू हो गया था , आज कैंपस में  हरियाणा के सबसे बड़े स्टार्ट अप इन्क्यूबेशन सेंटर को  संचालित किया जा रहा है ।यह स्टार्ट अप इनक्यूबेशन सेल न केवल हरियाणा का सबसे बड़ा स्टार्ट अप इंकुबेशन सेंटर है , बल्कि पाईट  के छात्रों को अनुकूल बनाने, इनोवेशन करने और अपने स्टार्ट अप लगाने  के लिए एक अनुकूल ईको-सिस्टम प्रदान करेगा।, जिससे आत्मनिर्भर भारत देश बनाने में हमारा योगदान रहेगा |  इस इन्क्यूबेशन सेंटर से स्थानीय उद्योगों और उद्यमियों को तो सहायता मिलेगी ही क्योकि उनकी मौजूदा व्यावसायिक प्रक्रियाओं को नया रूप मिल पाएगा , इसके साथ साथ हजारों रोजगार भी बनेंगे |  हाल में ही पाईट को न केवल देश के शीर्ष 125 संस्थानों में स्थान मिला था , बल्कि शिक्षा मंत्रालय के इनोवेशन सेल द्वारा 5 स्टार रेटिंग भी दी गई थी । उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष कैंपस में शुरू हुए  सुपर -30 बैच, पाईट की  “आउट ऑफ द बॉक्स” पहल का एक और शानदार उदाहरण है | इस बैच में कॉलेज के बेस्ट विधार्थी है जिन्हे पहले सेमेस्टर से ही उनकी नई नई इनोवेशन के जरिए स्टार्ट अप लगाने के लिए तैयार किया जा रहा है ।सुपर -30 बैच के लिए शॉर्टलिस्ट किए गए छात्र इनोवेशन और स्टार्ट अप की दुनिया की ओर उन्मुख होते हैं और उन्हें एक सीखने का माहौल प्रदान करते हैं जहां वे न केवल भारत के प्रमुख बिजनेस एक्सेलेरेटर्स जैसे कि इंडिया एसीसीईलर से संपर्क करते हैं, बल्कि एम एस एम ई ,स्टार्ट अप फोरम्स द्वारा आयोजित कई सम्मेलनों में भी भाग लेते हैं। हमारे शिक्षक उन्हें स्मार्ट इंडिया हैकथॉन , आईडियाथोन  जैसे  प्रतिष्ठित मुकाबलों में लगातार पुरस्कार जीतने के लिए तैयार करते है । उन्होंने बताया मेरा, हमारे हर विधार्थी से और इस क्षेत्र के हर माता पिता से वायदा है कि आने वाले समय में पाईट इसी तरह नए नए मुकाम हासिल करेगा और तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में देश का नंबर वन संस्थान बनेगा | सुरेश तायल ने सभी शिक्षकों और विधार्थियों को अवार्ड के लिए  बधाई दी | उन्होंने कॉलेज के डायरेक्टर डॉ शक्ति कुमार, डॉ डी पी एस चौहान , डॉ विजय अठावले , डॉ एस सी गुप्ता,  डॉ अंजू गाँधी , डॉ मोनिका गंभीर , शक्ति अरोड़ा , अरिंदम भट्टाचार्य , शिराज खुराना  का भी आभार व्यक्त किया , जिनके प्रयास से ऐसा संभव हुआ |

Leave a Comment