यूपी बोर्ड की असली परीक्षा आज,58 लाख से अधिक विद्यार्थी बोर्ड परीक्षा में होंगे शामिल

Spread the love

सात फरवरी को शुरू हुई यूपी बोर्ड की हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट परीक्षा के बाद अब पहली बार 12 फरवरी को बोर्ड की असली परीक्षा होगी। मंगलवार को हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट दोनों की अनिवार्य विषयों की परीक्षा होने के चलते बोर्ड परीक्षा में सबसे अधिक 58 लाख से अधिक परीक्षार्थी शामिल होंगे।

पहली पाली में हाईस्कूल हिंदी, प्रारंभिक हिंदी एवं इंटरमीडिएट बीमा सिद्घांत एवं व्यवहार, पंजाबी, बंगला, मराठी, असमी, उड़िया, कन्नड़, सिंधी, तमिल, तेलगु, मलयालम, नेपाली के 32.08 लाख परीक्षार्थी जबकि दूसरी पाली में इंटरमीडिएट के हिंदी एवं सामान्य हिंदी के 26.27 लाख परीक्षार्थी बोर्ड  परीक्षा में शामिल होंगे। इस प्रकार दोनों पालियों में 58 लाख से अधिक विद्यार्थी बोर्ड परीक्षा में शामिल होंगे।

 

यूपी बोर्ड की ओर से परीक्षा शुरू होने केतीसरे दिन अनिवार्य विषय की परीक्षा होने पर अब सही मायने में पता चल सकेंगा कि कितने विद्यार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी। बोर्ड परीक्षा में पहली पाली में 8354 केंद्रों पर हाईस्कूल हिंदी, प्रारंभिक हिंदी के 3195603 एवं इंटरमीडिएट के बीमा सिद्घांत एवं व्यवहार, पंजाबी, बंगला, मराठी, असमी, उड़िया, कन्नड़, सिंधी, तमिल, तेलगु, मलयालम, नेपाली के 12848 छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल होंगे जबकि दूसरी पाली में 8291 केंद्रों पर इंटरमीडिएट हिंदी, सामान्य हिंदी के 2611319 छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल होंगे। इस प्रकार दोनों पाली में मिलाकर 58.19 लाख  विद्यार्थी परीक्षा देंगे।

 

यूपी बोर्ड की ओर से परीक्षा शुरू होने केतीसरे दिन अनिवार्य विषय की परीक्षा होने पर अब सही मायने में पता चल सकेंगा कि कितने विद्यार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी। बोर्ड परीक्षा में पहली पाली में 8354 केंद्रों पर हाईस्कूल हिंदी, प्रारंभिक हिंदी के 3195603 एवं इंटरमीडिएट के बीमा सिद्घांत एवं व्यवहार, पंजाबी, बंगला, मराठी, असमी, उड़िया, कन्नड़, सिंधी, तमिल, तेलगु, मलयालम, नेपाली के 12848 छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल होंगे जबकि दूसरी पाली में 8291 केंद्रों पर इंटरमीडिएट हिंदी, सामान्य हिंदी के 2611319 छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल होंगे। इस प्रकार दोनों पाली में मिलाकर 58.19 लाख  विद्यार्थी परीक्षा देंगे।

 

यूपी बोर्ड सचिव ने बताया कि पहली बार नकल रोकने केलिए परीक्षार्थियों को अब उत्तर पुस्तिका के हर पृष्ठ पर रोलनंबर और कॉपी के प्रथम पृष्ठ पर दर्ज कॉपी कोड को लिखना होगा। यूपी बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया कि बोर्ड की ओर से पहली बार परीक्षा में सभी 75 जिले में कोडिंग वाली कॉपी प्रयोग में लाई जा रही है। अब कॉपी के हर पृष्ठ पर रोलनंबर और कॉपी की कोडिंग लिखे जाने के आदेश के बाद कॉपी बदले जाने की घटना पर रोक लगेगी।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *