बिहार डबल डिजिट दर से पिछले कई वर्षों से लगातार विकास कर रहा है. यहां का विकास का मॉडल दूसरे तरीके का है: सीएम नीतीश

Spread the love

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम विकास के साथ-साथ समाज सुधार का काम भी कर रहे हैं

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने आज दरभंगा एयरपोर्ट के सिविल इन्क्लेव का भूमि पूजन कर कार्यारंभ किया. साथ ही रिमोट के माध्यम से शिलापट्ट का अनावरण किया. मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम की विधिवत शुरुआत करने के बाद समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि सबसे पहले मैं केंद्रीय वाणिज्य, उद्योग और नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु एवं नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा को इस बात के लिए धन्यवाद देता हूं कि केंद्र एवं राज्य सरकार के बीच जो इस सिविल इन्क्लेव के लिए चर्चा हुई थी, वह आज मूर्त रूप ले रहा है. इसका आज शिलान्यास किया गया है. 31 मई 2019 तक यहां अस्थायी भवन बनकर तैयार हो जायेगा और जून में सफर की शुरुआत भी हो जायेगी.

 

इस सिविल इन्क्लेव से स्पाईसजेट कंपनी के विमान उड़ान भरेंगे. मुंबई, दिल्ली एवं बेंगलुरु से दरभंगा के लिए हवाई सेवा शुरू होगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि रायपुर में भी अधिक संख्या में मिथिलावासी रहते हैं. वहां से भी दरभंगा के लिए विमान सेवा की शुरुआत की जाये. मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले बिहार-बंगाल-उड़ीसा और झारखंड एक ही हुआ करता था. इन जगहों पर बड़ी संख्या में मिथिलावासी हैं. उन्होंने सुरेश प्रभु सं मांग की कि कोलकाता, भुवनेश्वर, रांची से भी दरभंगा को जोड़ा जाये ताकि बड़ी संख्या में यहां से लोग आ-जा सकें.

सीएम नीतीश ने कहा कि आज का दिन मिथिलावासियों एवं बिहार के लिए गौरव का दिन है. उन्होंने कहा कि मिथिला का अपना एेतिहासिक महत्व है और कवि कोकिल महाकवि विद्यापति के नाम पर इस टर्मिनल का नामकरण होने से बड़ी खुशी की बात और क्या होगी. उन्होंने कहा कि मैथिल कोकिल विद्यापति साढ़े छह सौ वर्ष पूर्व हुआ करते थे, लेकिन आज भी कबीर की तरह वे भी जनमानस के मन में बसते हैं. विद्यापति राजपाट चलाने वालों के सलाहकार के रूप में काम तो करते ही थे, साथ ही उन्होंने बेमेल विवाह, बहु विवाह, शराब के प्रचलन के खिलाफ भी लोगों में सामाजिक सुधार लाने का काम किया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम विकास के साथ-साथ समाज सुधार का काम भी कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि बिहार डबल डिजिट दर से पिछले कई वर्षों से लगातार विकास कर रहा है. यहां का विकास का मॉडल दूसरे तरीके का है, लोगों की आमदनी बढ़ रही है. उन्होंने कहा कि दरभंगा एयरफोर्स की जमीन पर जो यह सिविल इन्क्लेव का निर्माण किया जा रहा है, उसके लिए राज्य सरकार ने 121.43 करोड़ रुपये आवंटन की स्वीकृति दी है और बदले में एयरफोर्स को दूसरी जगह राज्य सरकार जमीन दे रही है, उसका जिलाधिकारी के द्वारा चयन किया जा रहा है ताकि एयरफोर्स को किसी प्रकार का नुकसान नहीं हो. पूर्णिया, बिहटा में भी एयरपोर्ट के निर्माण से लोगों को आवागमन की सुविधा होगी.

बिहटा एयरपोर्ट के निर्माण के लिए 108 एकड़ जमीन का हस्तांतरण किया गया है. बिहटा से पटना के लिए एलिवेटेड सड़क का निर्माण किया जाएगा, बिहटा से फोरलेन का भी निर्माण किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि पटना हवाई अड्डे से पहले बमुश्किल एक या दो उड़ानें होती थीं, लेकिन आज पटना एयरपोर्ट पर 48 प्लेनों की लैंडिंग होने लगी है. उन्होंने कहा कि पटना एयरपोर्ट पर यात्रियों के बढ़ते दबाव के कारण वहां भी नये टर्मिनल की जरूरत महसूस की जा रही है. उन्होंने कहा कि वहां भी जल्द से जल्द टर्मिनल बिल्डिंग बनवायी जाये. राज्य सरकार ने एक्सचेंज अॉफर की औपचारिकताएं पहले ही पूरी कर दी हैं.

गया एयरपोर्ट पर चार्टर्ड फ्लाईट से दूसरे देश के लोग भी आ रहे हैं. वहां और उड़ानें बढ़ायी जाएं और अन्य जगहों से भी
कनेक्टिविटी की जाये. मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में विकास का ही परिणाम है कि आज इतनी संख्या में लोग पटना से हवाई सफर कर रहे हैं. आज भी सड़क मार्ग एवं रेल मार्ग द्वारा सफर करने वाले यात्रियाें की संख्या सबसे अधिक है, उसे भी सुगम और बेहतर बनाने के लिए हमलोग लगातार काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि प्राचीन मिथिला की राजधानी नेपाल के जनकपुर में थी. ऐसे में दरभंगा से जनकपुर के लिए भी अगर कनेक्टिविटी हो जाये तो और बेहतर होगा

 

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *