आईबीएल पब्लिक स्कूल के प्रांगण में खेल दिवस समारोह का हुआ आयोजन

क्यों रखते है शिखा (चोटी) ? क्या है इसकी वैज्ञानिकता ?

क्यों रखते है शिखा (चोटी) ? क्या है इसकी वैज्ञानिकता ? हमारे देश भारत में प्राचीन काल से ही लोग सिर पे शिखा रखते आ रहे है ख़ास कर ब्राह्मण और गुरुजन। सिर पर शिखा रखने की परंपरा को इतना अधिक महत्वपूर्ण माना गया है कि , इस कार्य को आर्यों की पहचान तक माना … Read more क्यों रखते है शिखा (चोटी) ? क्या है इसकी वैज्ञानिकता ?

विज्ञान ईश्वर को मानने वाले आस्तिकों ने ही रचा है

*1970* के समय… तिरुवनंतपुरम में समुद्र के पास एक बुजुर्ग भगवद्गीता पढ़ रहे थे… तभी एक नास्तिक और होनहार नौजवान उनके पास आकर बैठा… उसने उन पर कटाक्ष किया कि लोग भी कितने मूर्ख है.. विज्ञान के युग मे गीता जैसी ओल्ड फैशन्ड बुक पढ़ रहे है… उसने उन सज्जन से कहा कि आप यदि … Read more विज्ञान ईश्वर को मानने वाले आस्तिकों ने ही रचा है

नव संवत्सर एक नये सफर की शुरूआत

  – डॉ नीलम महेंद्र – हमारी संस्कृति वर्षों पुरानी होने के बावजूद आज भी प्रासंगिक है और आधुनिक  विज्ञान से कहीं आगे है। जो खोज हमारे ॠषी मुनी हजारों साल पहले कर गए थे 21 वीं सदी के वैज्ञानिक उन पर अनुसंधान करके उनको सही पा रहे हैं। चाहे गणित के क्षेत्र में शून्य … Read more नव संवत्सर एक नये सफर की शुरूआत

नक़वी समेत 19 भाजपा नेताओ को सज़ा

नक़वी समेत 19 भाजपा नेताओ को सज़ा नक़वी समेत 19 भाजपा नेताओ को सज़ा नक़वी समेत 19 भाजपा नेताओ को सज़ा नक़वी समेत 19 भाजपा नेताओ को सज़ा नक़वी समेत 19 भाजपा नेताओ को सज़ा नक़वी समेत 19 भाजपा नेताओ को सज़ा नक़वी समेत 19 भाजपा नेताओ को सज़ा नक़वी समेत 19 भाजपा नेताओ को सज़ा नक़वी समेत 19 भाजपा नेताओ को सज़ा नक़वी … Read more नक़वी समेत 19 भाजपा नेताओ को सज़ा