स्वतंत्रता दिवस हमारे देश की एकता, सम्मान और समर्पण का प्रतीक है : रणवीर गंगवा

भिवानी,  अगस्त।

74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर स्थानीय भीम खेल परिसर में जिला स्तरीय समारोह हर्षाेल्लास और पूरे जोश के साथ आयोजित हुआ। हरियाणा विधान सभा के डिप्टी स्पीकर रणवीर गंगवा ने मुख्यअतिथि के रूप में शिरकत की। उन्होंने राष्ट्रीय गान की धुन के साथ ध्वजारोहण किया और परेड का निरीक्षण किया। उप पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र सिंह के नेतृत्व में परेड ने मार्च पास्ट किया। भीम खेल परिसर में आयोजित समारोह में आने से पहले श्री गंगवा नेहरू पार्क स्थित शहीद स्मारक पर पहुंचे और पुष्पाचक्र अर्पित कर अमर शहीदों को नमन किया।

श्री गंगवा ने अपने संबोधन में आजादी की लड़ाई में अपने प्राण न्यौछावर करने वाले शूरवीरों व सरहदों पर शहीद होने वाले सैनिकों, स्वतंत्रता सेनानियों, पूर्व सैनिकों एवं उनके परिजनों को नमन किया। समारोह के दौरान मुख्य अतिथि ने कोविड-19 के दौरान उल्लेखनीय कार्य करने वाले कोरोना योद्धा चिकित्सक, पुलिस अधिकारियों/ कर्मचारियों व नगर परिषद कर्मचारियों को प्रशंसा पत्र भेंट कर सम्मानित किया। समारोह को संबोधित करते हुए डिप्टी स्पीकर ने कहा कि एक लंबे संघर्ष के बाद भारत को 1947 में आज ही के दिन आजादी प्राप्त हुई थी। स्वतंत्रता दिवस हमारे देश की एकता, सम्मान और समर्पण का प्रतीक है। उन्होंने अपने संबोधन से देश की आजादी में अपना अमूल्य योगदान देने वाले सभी ज्ञात और अज्ञात शहीदों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

उन्होंने कहा कि महापुरुषों के पदचिन्हों पर चलते हुए सर्वप्रिय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के ओजस्वी नेतृत्व से आज देश में क्रांतिकारी बदलाव दिखाई दे रहे हैं। उनकी वैश्विक एवं प्रगतिशील सोच से अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत को एक शक्तिशाली राष्ट्र के रूप में पहचान मिली है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के मार्गदर्शन में हमारी सरकार ने देश व प्रदेश की जनता के समावेशी विकास के लिए में ईजी ऑफ लिविंग पर बल दिया है। इसके लिए सस्ते रिहायशी मकानों हेतु प्रधानमंत्री आवास योजना, उत्कृष्ट खाद्य पदार्थों की उपलब्धता हेतु सॉयल हेल्थ कार्ड, रोजगार एवं आर्थिक स्वतंत्रता के लिए कौशल विकास एवं मुद्रा लोन तथा आधुनिक भारत के नवनिर्माण हेतु स्टार्ट-अप एवं डिजिटल इंडिया, एक राष्ट्र एक राशन कार्ड सहित अनेक अभूतपूर्व योजनाओं की शुरूआत की गई है। इसके अलावा तीन तलाक, नागरिक संशोधन बिल, राम मंदिर जैसे मुद्दों का हल किया। जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाकर भारत की आंतरिक सुरक्षा-व्यवस्था को मजबूत किया। इससे कश्मीर से कन्याकुमारी तक ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ से नवभारत के निर्माण को बल मिलेगा। साथ ही, देश की एकता एवं अखंडता के लिए अपने प्राण न्यौछावर करने वाले डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के ‘एक राष्ट्र, एक निशान, एक विधान’ का स्वप्न भी साकार हुआ है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के नेतृत्व में सरकार हरियाणा में ‘समान अवसर, समान विकास’ के सिद्धांत पर कार्य कर रही है। राज्य के लोगों के लिए हमने खेल, शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा, बिजली, स्वावलम्बन तथा आधारभूत संरचना व अन्य क्षेत्रों के उन्नयन के लिए अनेक कदम उठाए हैं ताकि हरियाणा को एक समृद्व एवं खुशहाल राज्य बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सरकार ने कारगर कदम उठाए हैं। चिकित्सों को पीपीई किट, एन-95 मास्क तथा अन्य सुविधाओं के साथ-साथ अस्पतालो में मरीजों को क्वारंटाईन सुविधा दी जा रही है। सरकार ने रक्षाबंधन के पावन अवसर पर प्रधानमंत्री श्री मोदी के ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान को आगे बढ़ाते हुए 11 नए महाविद्यालय खोलने की घोषणा की, जिनमें जिला भिवानी का ईशरवाल का कॉलेज भी शामिल है। प्रदेश में लगभग 6 वर्षों में 63 नए कॉलेज खोले गए हैं। शिक्षा में गुणात्मक सुधार के उद्देश्य से प्रदेश में 82 राजकीय स्कूलों को आदर्श संस्कृति स्कूल के रूप में विकसित किया जाएगा। सरकार की 1000 प्ले स्कूल खोलने की योजना है।

उन्होंने कहा कि सरकार ने नशा एवं अपराधमुक्त हरियाणा बनाने हेतु ऑपरेशन प्रहार शुरू किया है। नशे के कारोबार पर अंकुश लगाने हेतु ‘हरियाणा नार्कोटिक्स ब्यूरो’ का गठन किया है। लोगों की पुलिस सहायता केलिए डॉयल 112 सेवा शुरू की है। उन्होंने कहा कि सरकार ने वर्ष 2020 को सुशासन संकल्प वर्ष के रूप में मनाने का निर्णय लिया है। प्रदेश सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के मात्र 9 मास के दौरान अनेक योजनाएं शुरू की हैैं। सरकारी कर्मचारी के 52 साल की उम्र से पहले निधन होने पर आश्रित को अनुकम्पा आधार पर नौकरी देने की व्यवस्था भी की गई है। लोगों को ‘सरल पोर्टल’ के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र में 6 हजार अटल सेवा केंद्र तथा शहरों में 115 सरल व अंत्योदय केंद्र शुरू किए हैं तथा 39 विभागों की 542 सेवाओं को ऑनलाइन उपलब्ध करवाया है। डिप्टी स्पीकर ने कहा कि सरकार ने पढ़े-लिखे युवाओं को पंचायती राज संस्थानों में प्रतिनिधित्व दिया है, इसके अलावा अब आगामी पंचायती राज चुनावों में महिलाओं के लिए 50 प्रतिशत सीटें आरक्षित करने पर विचार है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ योजना के तहत वर्तमान में लिंगानुपात 923 तक पहुंच गया है। सरकार ने बच्चों के लिए ‘मुख्यमंत्री दूध उपहार’ योजना और महिलाओ के लिए ‘महिला एवं किशोरी सम्मान योजना’ शुरू की है।

प्रदेश सरकार वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिए वचनबद्ध है। इसके तहत फसल अवशेष प्रबधंन के लिए मशीनरी पर 80 प्रतिशत तक की सब्सिडी देने की योजना भी शुरू की गई है। सरकार ने प्रदेश के सभी नगर निगम, नगर परिषद एवं नगरपालिकाओं के विकास कार्यों के प्रबन्धन हेतू आनलाईन वेबपोर्टल ‘वर्क मैनेजमेन्ट सिस्टम’ शुरू किया। प्रदेश में सिंचाई के उद्देश्यों के लिए विभिन्न जिलों के गांवों में 18 मॉडल तालाब विकसित किए जाएंगे। ‘‘जल-जीवन मिशन‘‘ के तहत 2022 तक शत-प्रतिशत घरों में नल से जल पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। केंद्रीय सडक़ एवं परिवहन मंत्रालय ने हरियाणा में 20 हजार करोड़ रुपये से अधिक की 669 किलोमीटर लम्बाई की 11 सडक परियोजनाओं की शौगात दी है। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण अगले दो वर्षों में हरियाणा में नई सडकों के निर्माण पर दो लाख करोड़ रुपये खर्च करेगा। राज्य सरकार ने प्रदेश में 17 टोल बैरियरों को भी हटा दिया है। प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तहत 2500 किलोमीटर लंबी सडक़ों के सुदृढ़ीकरण के कार्य आवंटित किए गए हैं, जिसमें से वर्ष 2020-21 में 1000 किलोमीटर लंबी सडकों के सुधार के लिए योजना तैयार की गई है।

Leave a Comment