भारतीय किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष रतनमान ने भाजपा पर किसान विरोधी होंने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा की सरकार किसान व किसानी को बर्बाद करने पर तुली हुई है।

पानीपत, 28 अगस्त।
भारतीय किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष रतनमान ने भाजपा पर किसान विरोधी होंने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा की सरकार किसान व किसानी को बर्बाद करने पर तुली हुई है। केंद्र के कृषि से संबंधित लाए गए किसान विरोधी तीनों अध्यादेश इसका सीधा सीधा प्रमाण है। इन अध्यादेशों को वापिस लेने व समर्थन मूल्य पर खरीद गांरटी को कानून बनवाएं जाने को लेकर प्रदेश में किसान लामबंद्व होकर आंदोलनरत है। रतनमान ने चेतावनी देते हुए कहा कि भाजपा की सरकार की हठधर्मी से आहत होकर भाकियू ने प्रदेश में शासित भाजपा सरकार के खिलाफ बिसात बिठा दी है। अब सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो जाएगी।
किसान भवन में जिलाध्यक्ष कुलदीव बलाना की अध्यक्षता में आयोजित प्रदेश स्तरीय मासिक किसान पंचायत में भाजपा के विरूद्व नारेबाजी कर जमकर रोष जाहिर किया। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामफल कंडेला ने भाजपा सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि चौ. छोटूराम द्वारा अंगेजों के शासनकाल में तत्कालीन समय में महा पंजाब में किसानों के हितों के लिए स्थापित मंडीकरण व्यवस्था को मौजूदा भाजपा सरकार तहस नहस करने पर तूली हुई है। जिसे बर्दास्त नही किया जा सकता है। किसान नेता रतनमान ने कहा कि इन अध्यादेशों को खारीज करने की मांग को लेकर अगस्त माह के दौरान भाकियू की ओर से अगस्त किसान क्रांति आंदोलन के तहत प्रदेश सांसदों व विपक्षी दलों के नेताओं के घरों पर जाकर प्रदर्शन किए गए।
ज्ञापन सौंप कर तीनों अध्यादेशों को रद्द करने की मांग भी गई। लेकिन विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान किसानों के दबाव के चलते एक ही दिन के सदन को छोड कर भाजपा भाग गई। जिसकी आज किसान पंचायत के दौरान भाजपा के इस रवैये की आलोचना की गई। इस अवसर पर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामफल कंडेला, प्रदेश उपाध्यक्ष सुरेंद्र सिंह घुम्मन, युवा विंग अध्यक्ष रवि आजाद, अंबाला मंडलाध्यक्ष नरपत राणा, महासचिव अमर सिंह टाटकी, पानीपत जिलाध्यक्ष कुलदीप बलाना, बारूराम जींद, सुभाष गुज्जर, बलजीत सिंह जेनपुर, हंसराज सिवाच, रिशीपाल नांदल सहित काफी संख्या में किसान मौजूद थे।
बाक्स:-
पी.एम को भेजेगें लाखों किसान पोस्ट कार्ड, लगाएगें गुहार
 प्रदेश अध्यक्ष रतनमान ने बताया कि भाकियू के आंदोलन की आगामी रणनीति के तहत सितम्बर माह के दौरान प्रदेशभर के लाखों किसान डाक द्वारा लाखों पोस्ट कार्ड भेज कर प्रधानमंत्री से समर्थन मूल्य पर खरीद कानून बनाए जाने की गुहार लगाएगें। इसकी पूरी रणनीति तय कर ली गई है। इस रणनीति के तहत भाकियू कार्यकर्ताओं की टोली गांव गांव जाकर किसान पंचायते करके भाजपा सरकार की किसान विरोधी नीति व अध्यादेशों के दुष्प्रमाणों से अवगत करवाएगी। इसके साथ ही किसानों से पोस्ट कार्ड लिखवाएं जाएगें। जिन्हें एकत्रित कर सितम्बर माह की 9 से 30 सितम्बर के बीच जिला के मुख्य डाकघरों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम प्रेषित किया जाएगा।
बाक्स:-
सरकार नही मानी तो बरोदा उप-चुनाव में भाकियू करेगी भाजपा का विरोध
किसान नेता रतनमान ने कहा कि अगर सरकार ने फसल खरीद गांरटी का कानू नही बनाया तो भाकियू बरोदा में होंने वाले उप-चुनाव में भाजा के खिलाफ मैदान में उतर कर विरोध करेगी। भाकियू के आंदोलन के इतिहास में पहली बार इस तरह को निर्णय लिए जाने के लिए किसानों को मजबूर होना पड़ सकता है। जिसका खामियाजा भाजपा को भाकियू के कोप का भाजन बनना पड़ सकता है। इसके लिए भाजपा को भाकियू को चुनौती को स्वीकार करने के लिए त्ेयार हो जाना चाहिए।
बाक्स:-
 विधायक कुंडू ने विधानसभा में किसानों के हित में दिखाई हिम्मत, करूंगा सम्मानित
प्रदेशाध्यक्ष रतनमान ने किसान पंचायत में लिए गए निर्णय का खुलाशा करते हुए कहा कि केंद्र के किसान विरोधी तीनों अध्यादेशों के खिलाफ व किसानों के हित में महम के आजाद विधायक बलराज कुंडू ने विधानसभा के मानसून सत्र में हिम्मत दिखाई। जिसके साथ उन्होंने सीना ठोक कर किसानों की मांग की पैरवी की। विधायक कुंडू की हिम्मत को और मजबूत करने के लिए 29 अगस्त को महम स्थित उनके कार्यालय में पहुंच कर भाकियू प्रतिनिधिमंडल सम्मानित करेगा।
बाक्स:-
 भाकियू अनुशासन कमेटी का किया गठन
किसान पंचायत में भाकियू की ओर से अनुशासन कमेटी का गठन किया गया है। जिसका अध्यक्ष राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामफल कंडेला को नियुक्त किया गया है। प्रदेश उपाध्यक्ष स. सुरेंन्द्र सिंह घुम्मन, पानीपत जिलाध्यक्ष कुलदीप बलाना, यमुनानगर जिलाध्यक्ष सुभाष गुज्जर तथा पानीपत जिला के पूर्व अध्यक्ष जयकरण कादियान को सदस्य नामित किया गया है।

Leave a Comment