गैंगस्टर संपत नेहरा को पुलिस ने लिया प्रोडक्शन वारंट पर, कई बड़े खुलासों की उम्मीद

चौटाला में हुए डबल मर्डर केस में डबवाली पुलिस गैंगस्टर संपत नेहरा को चार दिन के प्रोडेकेशन वारंट पर लेकर आई है। अब पुलिस चार दिन तक गैंगस्टर संपत नेहरा से पूछताछ करेगी। संपत नेहरा का चौटाला डबल मर्डर केस में नाम आया है।
इसके अलावा कई और अहम खुलासे भी हो सकते हैं। हरियाणा पुलिस गैंगस्टर संपत नेहरा को पंजाब के होशियारपुर सेंट्रल जेल से प्रोडेक्शन वारंट पर लेकर पहुंची है।
पुलिस का कहना है कि चार दिन की रिमांड अवधि के दौरान दोहरे हत्याकांड के संबंध में अहम खुलासे हो सकते हैं। गौरतलब है कि 20 जुलाई 2020 को गांव चौटाला में प्रकाश पूनियां तथा मुकेश गोदारा की हत्या की गई थी। जांच में सामने आया था कि गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई और सम्पत नेहरा इस मर्डर में शामिल है।
डबल मर्डर की साजिश में शामिल होने के कारण पुलिस ने संपत नेहरा का 1 सितंबर का प्रॉडक्शन वारंट जारी करवाया था। बताया जा रहा है कि संपत नेहरा को लेने के लिए सिरसा पुलिस की एक बड़ी टीम होशियारपुर जेल गई थी, जो मंगलवार दोपहर बाद करीब पौने 1 बजे गैंगस्टर को डबवाली अदालत में पेश करके शामिल तफ्तीश करने की अनुमति मांगी।
 वर्ष 2014 में संगरिया स्थित स्वामी केशवानंद ग्रामोत्थान विद्यापीठ में छात्रसंघ अध्यक्ष पद के चुनाव होने थे। अध्यक्ष पद की दौड़ में शामिल दिनेश बिश्नोई के समर्थन में रैली निकाली जा रही थी। टिब्बी बस अड्डा पर रैली पर कार सवारों ने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। अबोहर के पूर्व विधायक तथा गांव सकताखेड़ा निवासी सही राम धारणियां के पोते अमनदीप उर्फ सोनू (28) तथा गांव जंडवाला बिश्नोईयां निवासी संदीप उर्फ पेट्रोल (25) की मौत हो गई थी।
सोनू गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई का फुफेरा भाई था. इसी रंजिश में 20 जुलाई 2020 को गांव चौटाला में प्रकाश पूनियां तथा मुकेश गोदारा की हत्या की गई थी। पुलिस के अनुसार संपत नेहरा पर 39 केस दर्ज है। जिसमें हरियाणा में 15, पंजाब में 10, चंडीगढ़ में 8, राजस्थान में 4 तथा दिल्ली 2 दो केस है।

Leave a Comment